उपाय लेख

पैतृक-ऋण की पहचान के बाद उपाय कैसे करें ?

60views

पैतृक-ऋण की पहचान के बाद उपाय करें ?

यहां विगत पृष्टों में नौ प्रकार के पैतृक-ऋण की पहचान बतायी गयी है। अपनी जन्मकुण्डली में देखकर निर्णय करें कि उसमें से पैतृक-ऋण कौन सा है। जब यह ज्ञात हो जाए तो उसी के अनुसार उनका उपाय करना चाहिए।

अब सभी नौ प्रकार के पैतृक ऋणों के प्रभावशाली उपायों के बारे में चर्चा करते हैं। ये सभी उपाय शीघ्र फलदायी हैं। यदि आपकी कुण्डली में पैतृक ऋण है तो इन उपायों को करना अनिवार्य है।

यदि यह उपाय करेंगे तो कुण्डली के अन्य महत्वपूर्ण योगों का फल नहीं मिलेगा और अन्य उपाय भी फलीभूत नहीं होंगे ।

ALSO READ  नहीं हो रहा है love marriage ? तो करें ये उपाय