Astrologyhealth

रोग मुक्त के लिए करें ये उपाए

43views

रोग मुक्त के लिए करें ये उपाए

स्वस्थ शरीर हर व्यक्ति की पूंजी होता है। यदि शरीर स्वस्थ है तो व्यक्ति कोई भी काम करने में सक्षम होता है इसलिए हमारे शास्त्रों में भी कहा गया है कि पहला सुख निरोगी काया। रोगों के कारण व्यक्ति का धन तो बरबाद होता ही है साथ ही में व्यक्ति मानसिक और शारीरिक दोनों रुप से परेशान हो जाता है।

स्वस्थ रहने के लिए सबसे आवश्यक होता है अपने खान-पान और दिनचर्या पर ध्यान देना लेकिन बावजूद इसके कभी-कभी हम बार-बार बीमार होने लगते हैं। इस वजह से हम बहुत से डॉक्टर और दवाइयां बदलते रहते हैं।

ALSO READ  जानिए,नाड़ी दोष निरस्तीकरण

बीमार का मुख्य कारण तो हमारे शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमता का कम होना होता है लेकिन कई बार इसके पीछे अन्य कारण भी होते हैं जिसकी वजह से दवाइयां खाने के बाद भी हम स्वस्थ नहीं रह पाते हैं। ज्योतिष में कुछ उपाय बताए गए हैं जिन्हें आप अपना इलाज करवाने के साथ ही आजमा सकते हैं और आप रोगों से पीछा छुड़वा सकते हैं। तो चलिए जानते हैं उपाय।

आप बहुत बीमार रहते हैं या फिर आपके परिवार को कोई ऐसा व्यक्ति है जो बहुत इलाज करवाने पर भी स्वस्थ नहीं हो पा रहा है। उसपर दवाइयों का असर नहीं हो रहा है तो इसके लिए थोड़ा सा आटा गूंथकर उसका एक पेड़ा (लोई) बनाएं। एक लोटे में जल भरें। अब लोई और जल भरे हुए लोटे को लेकर रोगी के ऊपर से तीन बार उतारें।

ALSO READ  हो रहे है बार-बार बीमार ? तो करें ज्योतिष उपाय...

जल को किसी पेड़ जैसे पीपल आदि में चढ़ा दें और आटे का पेड़ा गाय को खिला दें। इस उपाय को तीन दिनों तक करना चाहिए। माना जाता है कि इससे रोगी को जल्दी ही स्वास्थय लाभ होने लगता है।यदि कोई आपके घर में लंबे समय से बीमार है और स्वस्थ नहीं हो पा रहा है तो उसे दक्षिण दिशा की ओर सिर करके सुलाना चाहिए।

इसी के साथ रोगी की दवाईयां और पानी आदि भी इसी दिशा में रखें। रोग को जब भी दवा खिलाएं तो इस बात का ध्यान रखें कि उसका मुख पूर्व दिशा की ओर हो। इससे रोगी कुछ समय में धीरे-धीरे ठीक होने लगता है।अगर आपके घर में कोई बहुत बीमार रहता है तो आपको किसी अस्पताल आदि में जाकर थोड़े-थोड़े समय पर, जरुरतमंदो को फल और दवाइयां दान करनी चाहिए। इससे आपको स्वयं मानसिक शांति अनुभव तो होता ही है साथ ही मान्यता है कि इससे व्यक्ति के रोग कटने लगते हैं और वह जल्दी ही स्वस्थ हो जाता है।