Health Astrology

मानसिक समस्याएं से है परेशान ? तो अपनाए ये उपाय

171views

मानसिक समस्याएं से है परेशान ? तो अपनाए ये उपाय

नींद हमारे लाइफ का एक अहम हिस्सा है और अगर इसमें किसी भी तरह की परेशानी आ रही हो, तो कई शारीरिक और मानसिक समस्याएं हमें हो सकती हैं. कहा जाता है कि रात में ठीक से सोने और करीब 7 से 8 घंटे की नींद लेने से दिमाग शांत, मूड अच्छा रहता है और शरीर में एनर्जी भी बनी रहती है. काम के दौरान आलस महसूस नहीं होता.हालांकि,आजकल लोगों के बिजी शेड्यूल और बढ़ी हुई जिम्मेदारियों की वजह से उनके सोने का सिस्टम बिगड़ा हुआ है. वे रात में देर तक जागते हैं और नींद  न आने की समस्या को फेस करते हैं. देर तक जगना और सुबह जल्दी उठने पर मानसिक तनाव हो सकता है और इसका असर आपके काम पर दिख सकता है।

लगातार ऐसा होने पर बेचैनी होने लगती है और ये भी रात में नींद खराब कर सकती है. हम आपको बताने जा रहे हैं कि रात में बेचैनी की क्या वजह हो सकती हैं और इसे दूर करने के लिए आप किन उपायों को कर सकते हैं।

ये हो सकते हैं कारण

रात में नींद न आने पर बेचैनी के पीछे कई स्वास्थ्य संबंधी कारण हो सकते हैं. इसे क्रोनिक बेचैनी भी कहा जाता है, जिसमें सिर्फ नींद न आना ही नहीं, चिड़चिड़ापन, वजन बढ़ना और इम्यूनिटी भी कमजोर होने लगती है. हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक रेस्टलेस लेग्स सिंड्रोम, अनहेल्दी डाइट, हार्मोनल प्रॉब्लम जैसी समस्याएं रात में बेचैनी और नींद न आने का कारण हो सकती हैं. वहीं अगर आपको स्ट्रेस है, तो यकीनन आपको नींद न आने की बीमारी हो सकती है. इतना ही नहीं रात में एक्सरसाइज करना भी नुकसानदायक साबित हो सकता है।

रेस्टलेस लेग्स सिंड्रोम

ये पैरों में होने वाली एक प्रॉब्लम है, जिसमें रात में सोते समय लोग पैरों को हिलाते हैं. पैरों में ऐंठन, झुनझुनी या फिर जलन शुरू हो जाती है और धीरे-धीरे ये बेचैनी का कारण बन जाती है. अगर आप रात में बिस्तर से उठकर थोड़ा टहल लें, तो इस समस्या से थोड़ी राहत मिल सकती है. वहीं अनहेल्दी डाइट भी आपको तंग कर सकती है. इससे बेचैनी ही नहीं दूसरी कई हेल्थ प्रॉब्लम्स भी हो सकती हैं. हेल्दी डाइट लें और बेहतर लाइफस्टाइल फॉलो करें।

करें ये उपाय

बेचैनी और रात में नींद न आने से अगर आप ग्रस्त हैं, तो ऐसे में सबसे पहले डॉक्टर से संपर्क करें. इसके अलावा रात में ही बैठकर थोड़ी देर लंबी सांस लें. साथ ही दिन में ज्यादा से ज्यादा पानी पिएं. इसके अलावा आप योग के जरिए भी राहत पा सकते हैं।