Horoscope

Aaj Ka Panchang 26 September : जानें नवरात्रि के प्रथम दिन का पंचांग,ये रहा राहुकाल समय

68views

जानें नवरात्रि के प्रथम दिन का पंचांग,ये रहा राहुकाल समय

आज का पंचाग.
दिनांक 26.09.2022
शुभ संवत 2079 शक 1944
सूर्य दक्षिणायन का ..
आश्विन शुक्ल पक्ष प्रतिपदा तिथि … रात्रि को 03 बजकर 23 मिनट से… दिन… सोमवार…
उत्तराफाल्गुनी नक्षत्र … दिन को 05 बजकर 55 मिनट तक …आज चंद्रमा … कन्या राशि
में … आज का राहुकाल दिन को 07 बजकर 24 मिनट से 08 बजकर 54 मिनट तक
होगा …

शारदीय नवरात्रि परिर्वतन वाली नवरात्रि –

26 सितम्बर (सोमवार) से शारदीय नवरात्रि शुरू हो रहे हैं। इस बार नौ दिन के
नवरात्रि में मां भगवती हाथी पर सवार होकर पधारेंगी। देवी के आगमन का वाहन तय होता
है।
भागवत पुराण अनुसार इस श्लोक से जानें कि माता कि सवारी कैसे निश्चित होती है
शशि सूर्य गजरुढा शनिभौमै तुरंगमे।
गुरौशुक्रेच दोलायां बुधे नौकाप्रकीर्तिता॥
अर्थात : यदि नवरात्रि सोमवार या रविवार से प्रारंभ हो तो माता हाथी पर सवार होकर आती
हैं। यदि वह दिन शनिवार या मंगलवार हो तो माता की सवारी घोड़ा होता है और शुक्रवार या
गुरुवार को नवरात्रि शुरु होती है तो मातारानी डोली में विराजमान होकर आती हैं। यदि
बुधवार दिन हो तो माता का आगमन नौका में होता है।
हाथी की सवारी का फल :
कहते हैं कि जब माता हाथी पर सवार होकर आती है तो वर्षा अधिक होने का संकेत है। जिससे
चारों ओर हरियाली छा जाएगी। फसलें भी अच्‍छी होंगी। देश में अन्न के भंडार भरेंगे, संपन्नता,
धन और धान्य में वृद्धि होगी। माता का आगमन हाथी और नौका पर होता तो वह साधक के
लिए कल्याणकारी होता है।
26 सितम्बर को प्रतिपदा पर घट स्थापना के साथ नवरात्र प्रारंभ होगा जो 04 अक्टूबर को
नवमी तिथि के हवन और कन्या पूजन के साथ संपन्न होगा। इन नौ दिनों में अनेक शुभ योग-
संयोग बन रहे हैं जो देवी की कृपा पाने के सर्वश्रेष्ठ दिन रहेंगे।
प्रतिपदा तिथि 26 सितम्बर को रात्रि 3.23 बजे से प्रारंभ होकर 27 सितम्बर को रात्रि 03.08
बजे तक रहेगी। इस दिन उत्तराफाल्गुनी नक्षत्र प्रात:काल 05.55 बजे तक रहेगा। इसी दिन घट

ALSO READ  Aaj ka Rashifal 17 October 2022 : इन राशि जातकों का चमकेगा किस्मत,जानें अपने राशि का हाल