ग्रह विशेष

ग्रह दोष से मुक्ति पाने के उपाय

87views
ग्रहों की बदलती हुई चाल का व्यक्ति के जीवन पर बहुत प्रभाव होता है। ग्रह जब अपनी चाल बदलते हैं तो वे कुंडली में शुभ और अशुभ फल प्रदान करते हैं। यह ग्रह अपनी प्रकृति के अनुसार फल प्रदान करते हैं। जिससे आपके जीवन में अच्छी और बुरी घटनाएं घटित होती हैं। ग्रहों के अशुभ प्रभाव के कारण जीवन में समस्याओं का सामना करना पड़ता है।
ज्योतिष में ग्रहों का दोष दूर करने के लिए कई उपाय बताए गए हैं, जिन्हें करने से ग्रहों के अशुभ प्रभाव से मुक्ति पाई जा सकती है। लोग ग्रहों के दोष से मुक्ति पाने के लिए कई उपाय करते हैं लेकिन इन उपायों को करने से पहले  कुंडली का अध्ययन करना जरूरी होता है परंतु कुछ उपाय ऐसे भी हैं, जो अत्यंत सरल हैं साथ ही इन्हें करने के लिए कुंडली की जांच करवाने की आवश्यकता भी नहीं रहती है।
 ज्योतिष में चंद्रमा को मन का कारक माना गया है। कुंडली में चंद्र दोष होने पर व्यक्ति को मानसिक परेशानियां होने लगती हैं। चंद्र दोष दूर करने के लिए प्रत्येक माह महीने की पूर्णिमा का व्रत करना चाहिए और रात को चंद्रदेव की पूजा करके अर्घ्य देना चाहिए। ज्योतिष में शनि और राहु-केतु को क्रूर ग्रह माना जाता है।
इन ग्रहों के अशुभ फल से मुक्ति पाने के लिए माह की अमावस्या तिथि को पीपल के वृक्ष की पूजा करनी चाहिए और जल चढ़ाना चाहिए। इससे आपके नौकरी व्यवसाय की समस्याएं दूर होती हैं।मंगल ग्रह को साहस, पराक्रम और भूमि-भवन का कारक माना गया है। मंगल ग्रह के अशुभ प्रभाव को दूर करने के लिए मंगलवार के दिन मसूर की दाल का दान करनी चाहिए।
इससे आपकी भूमि-भवन से संबंधित समस्याएं दूर होती हैं।बुध को वाकपटुता और चातुर्य का कारक माना जाता है यदि किसी के बुध ग्रह अशुभ फल प्रदान कर रहा हो तो प्रत्येक बुधवार को भगवान गणेश का पूजन करना चाहिए और उन्हें दूर्वा घास अर्पित करनी चाहिए।

कैसे दूर करें चंद्रदोष उपाय

ज्योतिषियों का मानना है कि कुंडली में शामिल चंद्र दोष को दूर करने के लिए पूर्णिमा की रात में चंद्रदेव को जल अर्पित करना चाहिए. इसके साथ ही चंद्र दोष दूर करने के लिए सफेद चीजें जैसे- चावल, शक्कर, दूध आदि का दान करें.

यूं दूर करें मंगलदोष

कहते हैं कि मंगल दोष से मुक्ति के लिए मंगलवार के दिन मसूर की दाल और लाल रंग की वस्तुओं का दान करना चाहिए. इसके साथ ही, कहते हैं कि मंगलवार के दिन भात पूजन करना चाहिए. ऐसा करने से भी मंगल दोष के अशुभ प्रभावों में कमी आती है.

बुधदोष के उपाय

अगर किसी जातक की कुंडली में बुध दोष है तो इसे दूर करने का सबसे आसान उपाय बुधवार के दिन गणेश जी को दूर्वा अर्पित करें. बुधवार के दिन हरे रंग की चीजों का दान करने की सलाह दी जाती है. ऐसा करने से बुधदोष से मुक्ति मिलती है.

गुरुदोष दूर करने का उपाय

अगर किसी व्यक्ति की कुंडली में गुरु या बृहस्पति ग्रह दोष है, तो उसे दूर करने के लिए हर गुरुवार भगवान विष्णु को केले का भोग लगाएं. साथ ही, उन्हें केसर या हल्दी मिश्रित जल चढ़ाएं.

शुक्रदोष के लिए उपाय 

शुक्रदोष दूर करने के लिए शुक्रवार मां लक्ष्मी का पूजन करें. साथ ही, उन्हें गुलाबी रंग के फूल समर्पित करें. और शुक्र ग्रह के बीज मंत्र का जाप करें.

सूर्यदोष दूर करने का उपाय

नवग्रहों के स्वामी हैं सूर्यदेव. सूर्य दोष दूर करने का सबसे उत्तम उपाय सूर्य देव को नियमित रूप से  तांबे के लोटे से जल का अर्घ्य देना है. कहते हैं कि अर्घ्य देते समय जल में रोली और लाल रंग का फूल मिलाकर अर्पित करना लाभप्रद होता है.

शनिदोष दूर करने का उपाय

हर शनिवार शनिदेव की पूजा करने से शनिदोष से मुक्ति मिलती है. शनिदेव या पीपल के पेड़ पर सरसों के तेल का दीया जलाएं. गरीबों और कुष्ठ रोगियों को भोजन करवाएं. काले रंग की चीजों का दान करें.

राहुदोष दूर करने के लिए

राहुदोष से मुक्ति के लिए भगवान शिव का पूजन करें. चांदी का नाग-नागिन का जोड़ा नदी में प्रवाहित करें या शिवलिंग पर चढ़ा दें. ऐसा करने से आपका राहुदोष दूर होगा.

केतुदोष के उपाय

केतु दोष से मुक्ति पाने के लिए काले सफेद रंग के कुत्ते को पालें. या कुत्ते को बेसन का लड्डू खिलाएं. ऐसे में गरीब व्यक्ति को सफेद रंग का कंबल दान करना लाभप्रद होता है.