Dharma Remedy Articles

शारदीय नवरात्रि में माँ दुर्ग को ऐसे करें प्रसन्न…

79views

“शारदीय नवरात्रि में माँ दुर्ग को ऐसे करें प्रसन्न…”

शारदीय नवरात्रि का प्रारंभ हो चुका है जो 4 अक्टूबर 2022 तक मनाई जाएगी। हिन्दू धर्म शास्त्रों में नवरात्रि के नौ दिनों तक मां दुर्गा के 9 स्वरूपों की विधिवत पूजा को बहुत शुभ माना गया है। नवरात्रि का त्योहार सुख, शांति, समृद्धि, आध्यात्मिक शक्ति, जप, तप, संयम, बुद्धि और वैभव का पर्याय माना जाता है।

सभी नौ देवियों का अपना स्वरूप और प्रभाव माना गया है। ऐसे में ज्योतिष अनुसार जीवन में कष्टों से मुक्ति पाने और मनचाहा वरदान पाने के लिए नवरात्रि में इन उपायों को शुभ माना गया है. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार पूजा के दौरान लाल वस्त्र धारण करें।

ALSO READ  श‍िवजी पर हल्‍दी क्यों नहीं चढ़ाई जाती,जानिए वजह...

                 “इसके बाद पूजन के दौरान माता रानी को लाल पुष्प, धूप, दीप, गाय के दूध और शहद से बनी चीजें अर्पित करें। फिर कुश के आसन पर बैठकर चंडी पाठ या दुर्गा सप्तशती का पाठ करें “

तत्पश्चात ध्यानपूर्वक मां दुर्गा के बीज मंत्र ‘ऊं ह्रीं दुं दुर्गायै नम:’ मंत्र का 108 बार जाप करें। इसके बाद अम्बे मां की आरती अवश्य करें। मान्यता है कि इससे मां दुर्गा शीघ्र प्रसन्न होती हैं। साथ ही जीवन में हर परेशानी और कष्ट दूर होकर सुख-समृद्धि आती है।

नवरात्रि पर नौ दिन माता को कौन- कौन सा भोग लगाएं

इससे आरोग्य की प्राप्ति होती है। मां ब्रह्मचारिणी- नवरात्रि के दूसरे दिन मां ब्रह्मचारिणी को शक्कर और पंचामृत का भोग लगाएं। मां चंद्रघंटा- मां को दूध से बनी मिठाइयां,खीर आदि का भोग लगाएं। मां कूष्मांडा- नवरात्रि के चौथे दिन मां कूष्मांडा को मालपुए का भोग लगाया जाता है।