Other Articlesउपाय लेख

पर्स को पैसे से भरना चाहते तो करें इन उपाय ?

112views

 

पर्स को पैसे से भरना चाहते तो करें इन उपाय ?

हिंदू धर्म में मां लक्ष्मी को धन की देवी कहा जाता है। जो भी उनकी सच्चे दिल से पूजा करता है, वह उनके भंडार भरे रखती हैं। पैसों की जरूरत हर किसी को होती है क्योंकि उसके बिना व्यक्ति की जरूरतें पूरी नहीं हो सकती। कई लोग तो धन का अभाव दूर करने के लिए पर्स में न जाने कौन-कौन सी वस्तुएं रख लेते हैं लेकिन कोई भी चीज पर्स में रखने से पहले उसका अच्छा-बुरा प्रभाव जान लेना चाहिए। कई बार तो भूल से कुछ ऐसी वस्तुएं भी रखी जाती हैं, जिनका नकारात्मक प्रभाव पड़ता है और वो सकारात्मकता को नष्ट कर देता है। तो आइए हम आपको बताते हैं, कुछ ऐसी चीजे जिन्हें पर्स में रख लेने से धन की देवी मां लक्ष्मी धन के भंडारे भरे रखती हैं।

ALSO READ  श्री महाकाल धाम अमलेश्वर में 27,28,29 मई को होगा महा यज्ञ...

 

 

  • माता लक्ष्मी की वहीं पिक्चर अपने पर्स में रखें जिसमे वह बैठी हुई मुद्रा में हों. इससे आपको कभी भी पैसे की कमी नहीं होगी.
  •  पर्स बाईं जेब में रखना अति शुभ माना गया है।
  • पर्स में चाबी को ना रखें।
  • पर्स में रुपए कभी भी मोड़ या फोल्ड करके ना रखें।
  • पर्स में कभी भी रुपयों के साथ कोई बिल-रसीद या टिकट ना रखें इससे विवाद बढ़ता है।
  • पर्स में कभी भी बीड़ी/सिगरेट या गुटखा आदि ना रखें।
  • रात्रि में सोते समय पर्स कभी भी सिरहाने ना रखकर उसे हमेशा अलमारी में रखें।
  • शौच के समय या शौचालय में पर्स आगे वाली जेब में रखें।
  • यदि पर्स कभी फट या कट जाए, तुरंत बदल दें।
  • यदि कर्ज का ब्याज देना हो तो वह रुपए पर्स में भूलकर भी ना रखें, रखोगे तो कर्ज नहीं उतरेगा बल्कि और चढ़ने की संभावना रहेगी।
  • प्रत्येक जन्म दिवस पर अपने पर्स में एक नोट (छोटा या बड़ा) पर अपने पिता या माता के हाथों से केसर का तिलक लगा कर पूरे वर्ष के लिए रख दें। अगले जन्मदिवस पर किसी कन्या को दें। पुनः माता या पिता से तिलक करवा कर वर्ष हेतु रख लें।
  • पर्स में सिक्कों की व्यवस्था अलग हो तथा बंद करके रखें। पर्स खोलते समय सिक्का नीचे नहीं गिरना चाहिए। इससे अपव्यय बढ़ता है।
  • अपने पर्स में किसी पूर्णिमा को लाल रेशमी कपड़े में चुटकी भर या 21 दाने अखंडित चावल बांधकर छुपाकर रखने से बेवजह खर्च नहीं होता है।
ALSO READ  जानिए ? कौन से ग्रह कराते है घटना और विवाद...