Gems & Stones

पन्ना रत्न के चमत्कारी फायदे…

143views

पन्ना रत्न के चमत्कारी फायदे…

पन्ना रत्न  जिसका संयोजक क्रोमियम तथा वैनेडियम होता है, जिसकी वजह से इसे हरा रंग प्राप्त होता हैl पन्ना रत्न बुध ग्रह से संबंधित होता है l बुध ग्रह जिसे बच्चे के समान समझा जाता है, जिसमें अनंत शक्तियों का वास होता हैl बुध ग्रह जिस पर ईश्वरीय कृपा बनी रहती है, ऐसे विशिष्ट ग्रह का स्वामी रत्न है, पन्ना जिसे प्रकृति ने स्वयं अपने रंग में रंगा हैl प्राकृतिक रूप से इसमें किसी को जीवंत करने की शक्ति विद्यमान रहती हैl ज्योतिष शास्त्रों के अनुसार वैसे तो बहुत से ग्रह नक्षत्र उपग्रहों का हमारे ऊपर बहुत ही प्रभाव पड़ता है।

इनका गोचर हमारे जिंदगी में विभिन्न प्रकार के बदलाव लेकर आता है, तथा सभी उपग्रहों ,ग्रहों के रत्न उपरत्न भी अलग-अलग होते हैं, जिसको हमें अपनी कुंडली के अनुसार धारण करना पड़ता है, जो हमें विशिष्ट प्रकार की अपनी- अपनी क्षमताओं के अनुसार उनमें विद्यमान अलौकिक शक्तियां का अनुभूति हमें प्रदान करते हैं, किंतु कभी-कभी यदि यह हमारे कुंडली के अनुरूप नहीं हुए तो ऐसी परिस्थिति में सकारात्मक परिणामों के जगह हमारे जिंदगी में नकारात्मक परिणामों की भरमार हो जाती है, जिससे हमारी जिंदगी तहस-नहस हो जाती हैl हमें विकट परिस्थितियों का सामना करना पड़ता है lधन हानि से लेकर मानहानि तक सहना पड़ता है, लोगों से मनमुटाव बढ़ जाते हैं, लोगों के द्वारा हमारे ऊपर बहुत से कटाक्ष किए जाते हैंl

हमारे छवि को धूमिल करने के लिए बहुत सी बातें हमारे खिलाफ बोली जाती है, जो शायद हमारे बर्दाश्त से बाहर होती हैं lऐसी परिस्थिति में झगड़ा झंझट भी बहुत बढ़ जाता है lआय अधिक होने की जगह व्यय अधिक होने लगता है lधीरे धीरे आर्थिक स्थिति भी खराब होने लगती हैl मानसिक तथा शारीरिक स्वस्थ भी गिरने लगता हैl विभिन्न प्रकार की चिंताएं बढ़ जाती हैंl अतः रत्न कोई भी हो उसे ज्योतिषीय सलाह के बिना कभी भी धारण नहीं करना चाहिए क्योंकि एक विद्वान पंडित या एक विद्वान ज्योतिष हमें हमारे ग्रह ग्रह नक्षत्रों के अनुसार ही कोई भी रत्न  धारण करने की सलाह देते हैंl विभिन्न प्रकार के रत्न जैसे- पुखराज, नीलम, माणिक्य मोती गोमेद पन्ना आदि विविध ग्रहों को निरूपित करते हैं।

पन्ना रत्न एक बहुमूल्य रत्न है, जिसे खरीदना हर किसी के बस की बात नहीं होती है, क्योंकि बाजारों में उपलब्ध पन्ना रत्न प्राकृतिक रूप से प्राप्त है, या कृतिम ग्रुप से बना हुआ है, इसकी जांच विभिन्न मापदंडो को अपना कर ही जाना जा सकता हैl ऐसे में भारी-भरकम रकम लगाना थोड़ा मुश्किल हो जाता है इसलिए लोगों के द्वारा इसके विभिन्न प्रकार के उपरत्नो का उपयोग भी किया जाता हैl इसके कुछ उपरत्न निम्न है, हरा बेरुज ,ओनिक्स, मरगज, पेरीडॉटl

इन सभी को प्रश्नों में से सबसे अधिक प्रभावशाली तथा शक्तिशाली उपरत्न हैl मरकज जो आसानी से लोगों को उपलब्ध भी हो जाता है l उसके बाद आता है, पेरीडॉट की बारी जिसकी गुणवत्ता भी उत्कृष्ट होती है, इसलिए लोगों के द्वारा इसका पेंडेंट तथा अंगूठी या विभिन्न प्रकार के आभूषण बनाकर धारण किया जाता है l रत्न हो या उपरत्न हमें एक बात का अवश्य ध्यान रखना चाहिए कि बिना इसे अभीमंत्रित किए या सटीक विधि विधान के बिना धारण नहीं करना चाहिएl अन्यथा वह अपनी सर्वोत्तम शक्ति पर काम नहीं करता है, हमें तब इसके उतना अधिक प्रभाव या परिणाम देखने को नहीं मिलते हैं, जितना मिलना चाहिएl

पन्ना रत्न के विभिन्न चमत्कारों के बारे में हम जानने का प्रयास करते हैं-

1. इसे धारण करने वाला जातक तेजस्वी एवं यशस्वी होता है, उसके मुख मंडल पर अजीब सी चमक होती हैl चेहरे की चमक उसके व्यक्तित्व में चार चांद लगाती हैं, उसका मुखड़ा चांद के समान आकर्षण करने होता हैl

2. पन्ना रत्न  को धारण करने वाले जातक में मानसिक तथा बौद्धिक क्षमता का विकास होता है, जिससे वह एक दूरदर्शी बनता है, तथा आने वाले भविष्य के बारे में अपनी एक योजना के तहत जिंदगी में आगे बढ़ता है lअपने लक्ष्य को प्राप्त करने की पूरी कोशिश करता है, तथा उसमें उसे सफलता भी प्राप्त होती है।

3. पन्ना रत्न  को धारण करने वाले जातक में विचित्र रचनात्मक क्षमता होती है, उसकी कार्य करने की शैली से लोग बहुत प्रभावित होते हैं lअपनी रचनात्मक कौशल का उपयोग कर वह अपने स्वर्णिम भविष्य की संरचना तैयार करता है, ऐसे जातक प्रायः अपनी जिंदगी में बहुत सफलता प्राप्त करते हैं, तथा उन्हें लोगों का सहयोग भी खूब प्राप्त होता हैl

4. पन्ना रत्न धारण करने वाले लोगों में जो दिव्य शक्ति इस रत्न में होती हैl वह शक्तियां उस जातक को प्रदान करता है, जो इसे धारण करता है, जिससे उसका वैभव ,उसकी स्मृति आदि बढ़ती है, जिसे देखकर लोग दांतो तले उंगली चबा लेते हैं।

5. विद्यार्थी वर्ग के लिए तो पन्ना रत्न  किसी अलोकिक वरदान से कम नहीं है, क्योंकि यह उनमें एकाग्रता शक्ति को बढ़ाता है, तथा स्मरण शक्ति भी बहुत तेज होती है, जिससे वह छोटी से छोटी बातों को याद रखने में सक्षम होते हैं lऐसे में उनका परीक्षा का परिणाम बहुत ही अच्छा आता है, या वो किसी प्रतिस्पर्धा में भाग ले रहे हैं, तो भी वह उसमें अव्वल आते हैंl पन्ना रत्न उन्हें पूरी तरह से केंद्रित कर देता है, जिससे उन्हें उनके लक्ष्य को प्राप्त करने में बहुत सहायता मिलती है।

6. पन्ना रत्न धारण करने वाले व्यक्तित्व व्यक्तियों के अंदर अद्भुत प्रभाव देखने को मिलते हैं, उनका व्यक्तित्व का पूरी तरह से सकारात्मक रूपांतरण होता हैl उनकी वाणी में जैसे जादू होता है, लोग उनकी ओर खुद ही खींचे चले आते हैं, जैसे इनके व्यक्तित्व में सम्मोहन शक्ति आ गई हो।

7. पन्ना रत्न  को धारण करने से लोगों में विभिन्न प्रकार के कौशलों का निर्माण होता है, जिससे उनके कार्य शैली में परिवर्तन आता है, एवं यह परिवर्तन बहुत ही सकारात्मक होता है, जिससे उन्हें अप्रतिम रूप से लाभ प्राप्त होता है, घर हो या कार्यस्थल दोनों जगह उन्हें बहुत मान सम्मान की प्राप्ति होती है, तथा घर परिवार के लोगों का भी सहयोग प्राप्त होता है।

8. पन्ना रत्न  को धारण करने वाले लोग बहुत ही खुश मिजाज प्रवृत्ति के होने लगते हैंl उनके लिए हर ओर आनंद ही आनंद की गंगा बहती हैl नकारात्मकता उन्हें छू भी नहीं पाती है, और तो और जो लोग उनकी संगति में आते हैं, उनमें भी जैसे यह लोग जादू कर देते हैं lउन लोगों का भी मन मिजाज खुशनुमा हो जाता हैl

9. रत्न का औषधीय गुण भी कुछ कम नहीं हैl इसे धारण करने से मन से नकारात्मक भावनाएं खत्म होने लगती है, तथा सकारात्मक ऊर्जा का संचार बढ़ जाता है, चिरचिरा हट, चिल्लाने की बीमारी या अवसाद में भी पन्ना रत्न  बहुत उपयोगी होता हैl