Dharma Remedy Articlesउपाय लेख

जानें,रोग निवारण के अचूक उपाय और टोटके

74views

 

पीलिया रोग’’ निवारक टोटका

शनिवार को आमंत्रित कर ’’ पुनर्नवा बूटी की जड़’’ रविवार को ले आवें। सफेद सूती नौ धागे लेकर एक डोरा तैयार करें। उस डोरे में पुनर्नवा बूटी को 21 छोटे-छोटे टुकड़े करके माला की तरह अलग-अलग बाॅध दे, तत्पश्चात् हनुमान जी का स्मरण करके रोगी के गले में पहना दे ंतो पीलिया रोग ठीक हो जाता है। जब रोगी ठीक हो जाय तो बूटी की माला हरे वृक्ष की डाल में लटका कर घर चल आएं।

’’सिरदर्द’’ निवारक टोटका

काकजंघा वृक्ष की जड, अथवा मजीठा वृक्ष की जड़ या द्रोण पुष्पी की जड़ को शनिवार को आमंत्रित कर रविवार को ले आवें और सफेद धागे को लपेट कर, सफेद डोरे के साथ ही रोगी के सिर में बाॅध दें तो पुराना से पुराना सिर दर्द से भी छुटकारा मिल जाता है।

ALSO READ  घर में यहाँ लगाए तुलसी के पौधे,होगी धन की बारिश

 ’’अधकपाड़ी’’ (आधी शीशी) रोग निवारक टोटका

’’अधकपाड़ी’’ अर्थात् आधे सिर का दर्द बहुत ही पीड़ादयक होता है। रोगी डाक्टरों, वैद्यों से इलाज करके हार जाता है, परन्तु शीघ्र यह दर्द ठीक नही होता। ऐसे रोगी को रविवार के दिन ’’ हुलहुल ब्यूटी की जड’’ लाकर, सफेद धागे से सात गांठ उसमें लगाकर रोगी के सिर गला अथवा बाजू में धारण करावें तो आधी शीशी दर्द से रोगी बिल्कुल आराम हो जाता है। यह नुक्ता अनेको बार आजमाया हुआ है, आप भी आजमा कर देखें।