उपाय लेख

वास्तु दोष दूर करने का अचूक उपाय…

83views

वास्तु दोष दूर करने का अचूक उपाय…

Vastu Dosh: घर में मौजूद वास्तु दोष लोगों के जीवन में बुरा असर डालते हैं. घर में शांति का भंग होना, कलेश रहना आदि कुछ संकेत हैं, जो घर में वास्तु दोष होने का इशारा देते हैं.घर में मौजूद वास्तु दोष लोगों के जीवन में बुरा असर डालते हैं. घर में शांति का भंग होना, कलेश रहना आदि कुछ संकेत हैं, जो घर में वास्तु दोष होने का इशारा देते हैं. लेकिन कुछ वास्तु दोष बहुत खतरनाक होते हैं. घर में मौजूद ऐसे दोष घर को बर्बाद कर देते हैं. साथ ही, परिवार के सदस्य, उनके करियर पर भी बुरा प्रभाव डालते हैं. इतना ही नहीं, जिंदगी में आगे बढ़ने के रास्ते रोक देते हैं. इन्हें समय पर ठीक करवा लेना ही बेहतर रहता है. वरना जिंदगी में आगे कई बड़ी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है

उत्तर दिशा में न हो वास्‍तु दोष 

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर की उत्तर दिशा सबसे अहम होती है. अगर घर की उत्तर दिशा का सही इस्‍तेमाल किया जाए, तो घर में हमेशा खुशहाली बनी रहती है. वहीं, दूसरी ओर अगर घर की उत्तर दिशा वास्‍तु दोष से युक्त होती है तो जॉब, बिजनेस, धन आगमन में रुकावटें आती हैं. वास्‍तु के मुताबिक इस दिशा में टॉयलेट-वॉशरूम, किचन बनवाना परेशानियों को न्यौता देने के बारबर है. इसके अलावा, ऐसा भी कहा जाता है कि इस दिशा को गंदा रखने से धन-संपत्ति का नुकसान होता है. साथ ही, वास्तु के अनुसार इस दिशा में टूटा हुआ या भारी फर्नीचर भी न रखें.

घड़ी की दिशा का भी रखें ध्यान 

वास्तु शास्‍त्र के अनुसार घर में घड़ी लगाते समय भी दिशा और अन्य बातों को ध्यान में रखना जरूरी होती है. घर की दक्षिण दिशा को घड़ी लगाने के लिए अशुभ माना जाता है. इस दिशा में घड़ी लगाने से अच्‍छा-भला करियर डुब जाता है. वहीं, ऐसा भी माना जाता है कि घर की दक्षिण दीवार में लगा आइना घर की महिलाओं को दुख देता है. घर की बहु-बेटियां कभी खुश नहीं रहती. वॉल घड़ी को हमेशा उत्तर या पूर्व दिशा में ही लगाना चाहिए. कहते हैं कि इससे घर में खुशियां आतीं हैं और धन-संपत्ति का विकास होता है.

घर की खिड़कियों में दोष 

घर में खिड़कियां बनवाते समय भी वास्तु दोष को ध्यान में रखना चाहिए. कहते हैं कि घर की दक्षिण दिशा में बनी खिड़कियां नेगेटिव एनर्जी लाती हैं. घर के लोग बीमारियों से घिरे रहते हैं और झगड़े होते रहते हैं. साथ ही, घर के बच्चे पढ़-लिखकर भी करिया में बहुत पीछे रह जाते हैं.

घर पर वास्तु दोष होने से व्यक्ति को कई तरह की परेशानियों से सामना करना पड़ता है। आइए जानते हैं घर पर मौजूद 20 तरह के वास्तु दोष कौन-कौन से होते हैं और इसको कैसे दूर किया जा सकता है।

1- नया मकान बनवाते या नया फ्लैट खरीदते समय गृह प्रवेश के दौरान वास्तु के देवता की पूजा जरूर करनी चाहिए।

2- घर से वास्तु दोष को दूर करने के लिए मुख्य प्रवेश द्वार पर स्वास्तिक का चिन्ह जरूर लगाएं। यहीं से सबसे पहले नकारात्मक ऊर्जा प्रवेश करती हैं।

3- घर के मुख्य दरवाजे के दोनों तरफ अशोक के पेड़ लगाने से सुख-शान्ति आती है। इसके अलावा ऐसा करने से वंश की वृद्धि होती है।

4 – घर के प्रवेश द्वार पर घोड़े की नाल (लोहे की) लगाने से भी वास्तु दोष दूर हो जाती है। जाती है।

5- जिस घरों पर गेंदे का पौधा या तुलसी का पौधा लगा हुआ होता है वहां कभी भी किसी तरह का वास्तुदोष उत्पन्न नहीं होता।

6-घर पर बने मंदिर में नियमित रूप से घी का दीपक जलाने से कभी भी नकारात्मक ऊर्जाएं घर के अंदर प्रवेश नहीं करती।

7- सुबह पूजा के दौरान शंख बजान से नकारात्मक ऊर्जा घर से बाहर निकल जाती है।

8- घर पर झाडू को हमेशा उचित स्थान पर ही रखें और इस बात का ध्यान रखना चाहिए कभी भी झाडू को पैर से स्पर्श ना करें।

9- ईशान कोण में कोई भी भारी वस्तु और कचरा न रखें ऐसा करने से धन की हानि हो सकती है।

10- घर पर उत्तर दिशा में कभी भी स्टोररूम ना बनाएं है।

11-अगर घर का मुख्य द्वार दक्षिण दिशा में है तो मुख्य द्धार पर श्वेतार्क गणपति की प्रतिमा लगानी चाहिए।

12- घर के मंदिर में देवताओं की मूर्तिया या तस्वीरों को आमने-सामने नहीं रखना चाहिए।

13- कमरे में सूखे हुए फूल नहीं रखना चाहिए। सूखे फूल रखने से आपकी किस्मत भी सूखने लगती है।

14- घर में वास्तुदोष निवारण यंत्र की स्थापना जरूर करनी चाहिए।

15- घर पर तिजोरी इस स्थान पर रखे की खोलते समय तिजोरी का द्वार पूर्व दिशा की ओर खुले।

16- इस बात का जरूर ध्यान रखें कि खाने की टेबल चौकोर होना चाहिए न की गोल या ओवल।

17-घर पर पूर्वजो की तस्वीर हमेशा दक्षिण दिशा में लगानी चाहिए भूलकर भी पूर्व दिशा या मंदिर में न लगाए।

18-घर के मुखिया का शयन कक्ष दक्षिण-पश्चिम दिशा में होना चाहिए।

19- घर में आइना पूर्व दिशा में ही रखना चाहिए।

20-  घर पर मोरपंख और गंगाजल जरूर होना चाहिए।