AstrologyGods and Goddess

आखिर क्यों कहा जाता है बुध ग्रह को बुद्धि का स्वामी

14views

बुधवार के स्वामी बुध ग्रह हैं, जो बुद्धि के कारक माने जाते हैं। किसी भी काम में सफलता की गारंटी निश्चित देने वाली सूझ-बूझ की उत्पत्ति बुद्धि से है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार बुद्ध आपके ज्ञान का प्रतीक हैं। जिन लोगों का बुद्ध अच्छा होता है वह आर्थिक क्षेत्र में उच्च पदों पर विराजमान होते हैं। बुद्ध को हिसाब के विषय के इलावा व्यापार का कारक गृह भी माना जाता है। ज्योतिष विद्वानों के अनुसार देश के बड़े-बड़े उद्योगपतियों और व्यापारियों की कुंडली में बुद्ध की स्थिति काफी अच्छी देखने को मिलती है। तभी तो वह अपनी बुद्धि के बल पर अपने कारोबार को बढ़ाने की क्षमता रखते हैं।




छोटे-छोटे टोटके आपकी बुद्धि पर सीधा असर करते हैं, आपकी कुशाग्रता को बढ़ाते हैं। ये सरल क्रियाएं जो टोटकों के नाम पर दी गई हैं आपको निश्चित अतिरिक्त शक्ति प्रदान करती हैं ताकि ठीक समय पर आप उचित समझ से काम कर सकें। फलत: आपकी सफलता निश्चित है। जिस प्रकार पौष्टिक पदार्थों के सेवन से मनुष्य का स्वास्थ्य बनता है, शरीर में बल आता है, ठीक उसी प्रकार मस्तिष्क की बुद्धि को भी तो खुराक चाहिए ताकि उचित समय पर उचित सूझ-बूझ के कारण सफलता मिल सके। इस तरह बुद्धि प्रधानता वाले दिन पर बुद्धि के दाता श्री गणेश की मोदक का भोग लगाकर पूजा करने से व्यक्ति बुद्धिमान बनता है।

ALSO READ  नौकरी में आ रही है परेशानी तो अपनाए ये उपाय

स्मार्ट और इंटेलिजेंट बनना है तो रखें इन बातों का ध्यान-

  • बुधवार के दिन हरी चीज़ों का दान करना शुभ होता है।
  • पक्षियों को पालना नहीं चाहिए।
  • मांस-मदिरा का सेवन न करें।
  • बहन-बेटी और उनके ससुराल वालों का खूब-आदर सत्कार करें।
  •  बुध को प्रसन्न करने के लिए सांड को गुड़ रोटी खिलाएं।
  • अपनी शक्ति के अनुसार गरीबों को केले और बताशे बांटें।
  • दादी को गिफ्ट दें।