Astrology

शादी मे आ रही है अड़चन ? तो करें ये ज्योतिष उपाय

321views

                                                शादी मे आ रही है अड़चन ? तो करें ये ज्योतिष उपाय

विवाह के इच्छुक युवक-युवतियां हर रोज मंदिर जाकर शिव-पार्वती की पूजा करें, ऐसा करने से विवाह में हो रही देरी के ग्रह दूर होते हैं। शिव पुराण के अनुसार, भगवान शिव ने माता पार्वती की तपस्या से प्रसन्न होकर ही पत्नी रूप में स्वीकार किया था। इसलिए भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा करने से विवाह में आ रही अड़चन दूर होती हैइसके साथ ही शादी का शुभ मुहूर्त आरंभ हो जाएगा। हो सकता है कि आपके किसी दोस्त अथवा रिश्तेदार की शादी हो रही हो और आपको उसमें शामिल होने का मौका मिले। अगर आपकी भी शादी की उम्र हो गयी है लेकिन आपकी शादी की बात कहीं तय नही हो पा रही है तो मायूस न हों।ज्योतिषशास्त्र में मान्यता है कि कुण्डली में ग्रहों की स्थिति अनुकूल नहीं होने पर शादी में बाधा आती है और शादी की बात तय होकर भी टूट जाती है। इस तरह की स्थिति से निकलने के लिए कुछ ज्योतिषशास्त्र पर आधारित उपाय हैं। अगर आप गौर करेंगे तो इनमें से कोई न कोई उपाय लोग आपके आसपास अमल में लाते नजर आ जाएंगे। आप भी चाहें तो इसे आजमाकर देख सकते हैं।

ALSO READ  जीना मुश्किल कर देते हैं राहु-केतु के अशुभ प्रभाव ! जानें इसके निदान

हनुमान की पूजा करें
ज्योतिषशास्त्र के अनुसार कुण्डली में मंगलिक दोष होने पर शादी में बाधा आती है। मंगलिक दोष के कारण आने वाली बाधा को दूर करने के लिए मंगलवार के दिन व्रत रखकर हनुमान जी की पूजा करनी चाहिए। हनुमान जी को गेहूं के आटे एवं गुड़ से बने लड्डू का भोग लगाएं। हनुमान जी को सिन्दूर चढ़ाएं और रामायण के बालकांड का पाठ करें।

विवाह में गुप्तदान
शनि की प्रतिकूल स्थिति से भी विवाह में बाधा आती है। शनि के कारण आने वाली बाधा को दूर करने के लिए प्रत्येक शनिवार को शिव लिंग पर काले तिल अर्पित करना चाहिए। शनिवार को काले कपड़े में साबुत उड़द, लोहा, काला तिल और साबुन बांधकर दान करने से भी लाभ मिलता है।

ALSO READ  Rahu: मानसिक शांति भंग कर सकता है राहु ? जानें इसके बचने के उपाय...

किसी कन्या की शादी हो रही हो तो उसमें अपनी क्षमता एवं श्रद्धा के अनुसार गुप्तदान करना भी बहुत फायदेमंद होता है। इससे जल्दी शादी होती है तथा वैवाहिक जीवन खुशहाल होता है। लेकिन दान की चर्चा कभी भी किसी से न करना चाहिए। कन्या की शादी में गुप्त दान करने से शनि एवं राहु के कारण विवाह में आने वाली बाधा समाप्त हो जाती है।

पीला खाएं, पीला पहनें
ज्योतिषशास्त्र में गुरू को विवाह का प्रमुख कारक माना गया है। गुरू की स्थिति अनुकूल नहीं होने पर विवाह में देरी होती है। गुरू को अनुकूल बनाने के लिए गुरूवार के दिन पीला वस्त्र धारण करना चाहिए। चने की दान, केला, हल्दी एवं केसर का सेवन लाभप्रद होता है। संभव हो तो गुरूवार का व्रत भी कर सकते हैं।

जल्दी विवाह के टोटके
माना जाता है कि घर में जब किसी की शादी हो रही हो तब दूल्हे का सेहरा लेकर सिर पर रखने से कुंवारे लड़के की शादी जल्दी होती है। कन्या को दुल्हन से सिर टकराना चाहिए। जिस कन्या की शादी में बार-बार बाधाएं आ रही हों उसे रात में तांबे के पात्र में जल भरकर विष्णु भगवान की मूर्ति या तस्वीर के सामने रखना चाहिए। सुबह ब्राह्ममुहूर्त में उस पात्र को लेकर खुले आकाश में चले जाएं। इस पात्र में रखे जल से मांग भरें और वापस पात्र को भगवान के सामने रख दें। इस बीच कोई टोके तो कुछ न बोलें। एक महीना तक ऐसा करने से विवाह के योग मजबूत हो जाते हैं। ।

ALSO READ  क्यों लगता है पितृ दोष, जानें इसकी वजह

युगल भगवान की पूजा करें
कभी भी अकेले शिव, राम या कृष्ण की पूजा नहीं करें। इससे विवाह में देरी होती है। विवाह में देरी से बचने के लिए शिव पर्वती, राम सीता अथवा कृष्ण राधा की युगल प्रतिमा की पूजा करें। आप जिन युगल की पूजा करें। पूजा के पश्चात उनकी चरणरज लेकर मांग भरें।