Astrology

प्रेम विवाह करना चाहते है तो करें ज्योतिष उपाय

150views

प्रेम विवाह करना चाहते है तो करें ज्योतिष उपाय

अगर आप अपनी लव लाइफ को शादी के अंजाम तक पहुंचाना चाह रहे हैं तो ये ज्योतिष उपाय आपकी मदद कर सकते हैं। प्रेम विवाह में कभी लड़की के माता-पिता को कभी लड़के के परिवार वाले शादी के तैयार नहीं होते और फिर समाज बीच में आकर अड़चन डालता है। कभी जात-पात को लेकर तो कभी अमीरी-गरीबी और मर्यादा के नाम पर विवाह की स्वीकृति नहीं मिल पाती। हालांकि आजकल समय काफी बदल गया है लेकिन प्रेम विवाह को लेकर किसी न किसी तरह की रुकावट आती रहती है।

हम आपको आज कुछ ऐसे उपाय बताने जा रहे हैं, जिनको आज से अजमाने पर आपको एक-एक करके सभी समस्याओं से मुक्ति मिल जाएगी।प्रेम विवाह की सफलता के लिए हीरा या ओपल रत्न धारण करें और 16 सोमवार को व्रत रखें।

ALSO READ  ग्रह दोष मुक्ति के लिए करें ज्योतिष उपाय

यह रत्न आपको प्रेम को विवाह तक पहुंचाने में मदद करते हैं और सोमवार के व्रत से भगवान शंकर की कृपा प्राप्त होती है, जिससे विवाह में कोई परेशानी नहीं आती। साथ ही हर रोज ‘हे गौरी शंकर अर्धागिंनी यथा त्वं शंकर प्रिया तथा माम कुरू कल्याणी कान्त कान्ता सुदुर्लभम्’ मंत्र की एक माला का जप करें।

कुंडली में बनेंगे प्रेम विवाह के योग
कुंडली में पंचमेश और सप्तमेश विवाह का स्थान होता है। पंचम भाव के स्वामी चंद्र देव हैं और सप्तम भाव के स्वामी सप्तम हैं। जब यह योग बनते हैं तब प्रेम विवाह होता है। इसके लिए आप पंचमेश के स्वामी चंद्र को प्रसन्न करने के लिए मोती धारण करें। ऐसा करने से कुंडली में प्रेम विवाह का योग बनेगा और आपकी इच्छा पूरी होगी।

इससे भी प्रेम विवाह में आती है अड़चन
मंगल दोष के कारण भी प्रेम विवाह में अड़चन आती है। अगर दोनों से कोई मांगलिक है तो मंगल दोष का तत्कार निवारण करें अन्यथा बाद समस्याओं का सामना करना पड़ता है। मंगल दोष को दूर करने के लिए ज्योतिष शास्त्र में कुंभ विवाह और वट विवाह मुख्य माने जाते हैं।

ALSO READ  कुंडली में है संतानहीनता योग तो करें ये ज्योतिष उपाय...

प्रेम विवाह के लिए कन्या करें यह उपाय
कन्या अपने हाथों में हरी चूड़ियां पहनें और गुरुवार के दिन पीले वस्त्र पहनकर लक्ष्मी नारायण की पूजा करें और अपनी इच्छाओं के बारे में भगवान को अवगत कराएं। साथ ही स्फटिक की माला से ‘ओम लक्ष्मी नारायण नम:’ मंत्र का जप करें, फिर प्रशाद चढ़ाएं। ऐसा करने से 6 महीने को अंतराल में प्रेम विवाह के योग बनना शुरू हो जाते हैं।

इस उपाय से भगवान गणेश होंगे प्रसन्न
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, किसी भी माह की शुक्ल पक्ष के पहले बुधवार के दिन भगवान गणेश की पूजा-अर्चना करें और उनको दूब घास, पीले लड्डू, सिंदूर और रोली आदि अर्पित करें। इस दिन आप नमक का सेवन न करें। भगवान गणेश की कृपा से विवाह के योग बनते हैं और माता-पिता आपकी शादी के लिए तैयार हो जाते हैं।

ALSO READ  वैवाहिक जीवन की दोष दूर करने का उपाय

प्रेम विवाह की सभी बाधा होंगी दूर
प्रेम विवाह में सभी अड़चनों को दूर करने के लिए रविवार के दिन पीले कपड़े में 7 सुपारी, 7 हल्दी की गांठ, 7 गुड़ की डली, 70 ग्राम चने, 7 पीले सिक्के और एक यंत्र लें। इसके बाद माता पार्वती की साधना करें। इन वस्तुओं को 40 दिन तक अपने घर में रखें, फिर किसी सुहागन महिला को इनको दे दें। ऐसा करने से प्रेम विवाह की सभी बाधाएं दूर हो जाती हैं।