AstrologyMarital Issues

Valentine Week Special 2020: अपने पार्टनर के साथ हुए अपने हर गिले-शिकवे को भूला देना चाहते हैं तो ज़रूर अपनाएं ये वास्तु टिप्स

209views

कहते हैं रिश्तों को सुधराने की उन्हें बेहतर बनाने की गुंजाइश हमेशा रहती है। कहने का मतलब ये है कि इसके लिए किसी शुभ समय को देखने की आवश्यकता नहीं होती। पंरतु अगर किसी मैरिड कपल में फरवरी माह के दौरान झगड़े हो रहे हों तो इनको सुलझाने के लिए 7 फरवरी से लेकर 14 फरवरी तक का जो समय होता है इन लड़ाई को बड़ी आसानी प्यार में बदल देता है। अब आपको ये बताने की ज़रूरत नही होगी कि इस दौरान क्या होता है। जी हां, हम वैलेंटाइन वीक की ही बात कर रहे हैं। प्यार के इज़हार का ये सप्ताह हर किसी को इसमें डूबने को मज़बूर कर देता है। तो अगर आप भी प्यार की इन फिज़ाओं में खोना चाहते हैं और अपने पार्टनर के साथ हुए अपने हर गिले-शिकवे को भूला देना चाहते हैं तो हमारे द्वारा आगे बताए जाने वाले वास्तु टिप्स को ज़रूर अपनाएं।

इससे न केवल आपके लड़ाई-झगड़े खत्म होंगे बल्कि आपके जीवन में प्यार की ऐसा बहार छाएगी जिससे आप बाहर नहीं आना चाहेंगे। बता दें ये वास्तु टिप्स आपके बेडरूम से जुड़े हुए हैं, जहां आप शायद एक-दूसरे के साथ सबसे ज्यादा वक्त बिताना पसंद करते होंगे। और यही वो जगह है जो दंपत्ति के जीवन को सबसे ज्यादा प्रभावित करता है। जिसका मतलब ये हुआ कि अगर ये सही जगह होगा तो जीवन में खुशियां आती हैं तो वहीं अगर वास्तु के हिसाब से इसकी दिशा-दशा सही न हो तो इसका शादीशुदा जीवन पर बहुत बुरा असर पड़ता है। आइए जानें शयन कक्ष बेडरूम किस दिशा में होना चाहिए और वहां कौन सी चीज़ें नहीं रखनी चाहिए।

इस दिशा में होना चाहिए शयन कक्ष-

वास्तु के अनुसार मुख्य शयन कक्ष, जिसे मास्टर बेडरूम भी कहा जाता है वो हमेशा घर के दक्षिण-पश्चिम (नैऋत्य) या उत्तर-पश्चिम (वायव्य) की ओर होना चाहिए। जिस किसी के घर में मकान की ऊपरी मंजिल है तो मास्टर बेडरूम ऊपरी मंजिल के दक्षिण-पश्चिम कोने में होना चाहिए।

ALSO READ  6 अप्रैल 2024 को देशभर के विख्यात ज्योतिषियों, वास्तु शास्त्रियों, आचार्य, महामंडलेश्वर की उपस्थिति में होगा भव्य आयोजन

बेडरूम में सोते समय इस बात का ध्यान रखें कि आप सिर दीवार से सटाकर ही सो रहे हैं और पैर हमेशा दक्षिण और पूर्व दिशा की तरफ़ हो। कहा जाता है कि उत्तर दिशा की ओर पैर करके सोने से स्वास्थ्य लाभ तथा आर्थिक लाभ की संभावना बढ़ती है। तो वहीं पश्चिम दिशा की ओर पैर करके सोने से शरीर की थकान दूर होती है व नींद अच्छी आती है। इसक अलावा इस बात का खास ख्याल रखें कि बेडरूम की दीवारों में दरारें न हों अगर ऐसा हो तो तुरंत इसकी मरम्मत करवा लें।

ALSO READ  6 अप्रैल 2024 को देशभर के विख्यात ज्योतिषियों, वास्तु शास्त्रियों, आचार्य, महामंडलेश्वर की उपस्थिति में होगा भव्य आयोजन

बेडरूम में भूलकर भी झाड़ू, जूते-चप्पल, अटाला, इलेक्ट्रॉनिक आइटम या फिर कोई भी टूटी-फूटी चीज़ न रखें। कहा जाता है इससे जीवन में नकारात्मकता बढ़ती है।

कभी भी अपने बिस्तर के सामने आईना न लगाएं, वास्तु के अनुसार इसे अच्छा नहीं माना जाता।

अगर बेड के गद्दे दो हिस्सों में हों तो इससे पति-पत्नी के बीच दूरीयां बढ़ती है। इसलिए अगर आपके घर में भी ऐसा है तो इसे बदल दें।

बेडरूम का पलंग कभी टूटा नहीं होना चाहिए। वास्तु की मानें तो इसका आकार यथा संभव चौकोर रखना चाहिए। इसके अलावा एक और बात दिमाग में रखें कि पलंग की स्थापना छत के बीम के नीचे नहीं होनी चाहिए।

ALSO READ  6 अप्रैल 2024 को देशभर के विख्यात ज्योतिषियों, वास्तु शास्त्रियों, आचार्य, महामंडलेश्वर की उपस्थिति में होगा भव्य आयोजन

कभी भी अपने बेडरूम कक्ष के दरवाज़े के सामने पलंग न लगाएं।

बेडरूम में पलंग लकड़ी का हो तो श्रेष्ठ रहता है। इसके अलावा बेडरूम में खराब बिस्तर, तकिया, परदे, चादर, रजाई आदि नहीं रखने चाहिए।