Astrologyउपाय लेख

गुरुवार के दिन कुछ कामों को करने की मनाही है,नहीं तो श्री हरि हो जाएंगे नाराज़

445views

हिंदू धर्म के अनुसार बृहस्पतिवार के दिन भगवान विष्णु की पूजा की जाती है। कहते हैं कि इस दिन जो कोई व्यक्ति व्रत करता है तो उसकी सारी मनोकामनाएं भगवान पूरी करते हैं। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस दिन केले के पेड़ की पूजा की जाती है। उनकी पूजा से लक्ष्मी माता की भी कृपा बनी रहती है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि गुरुवार के दिन कुछ कामों को करने की मनाही बताई गई है। कहते हैं जो कोई भी उन कार्यों को करता है तो भगवान उससे नाराज़ हो जाते हैं

गुरुवार व्रत: गुरुवार का दिन भगवान श्रीहरि विष्णु को समर्पित, करें ये उपाय मिलेगा मनचाहा लाभ

बाल न धोना और न काटना
कहते हैं कि बृहस्पतिवार के दिन महिलाओं और पुरूषों को बाल नहीं धोना चाहिए। ऐसा करने से पति और संतान दोनों को हानि होती है। ज्योतिष के अनुसार कुंडली में बृहस्पति पति और संतान का कारक होता है। इसलिए बृहस्पतिवार को बाल धोने से कुंडली में इस ग्रह की स्थिति खराब होती है और इसका अशुभ प्रभाव परिवार के कुछ सदस्यों पर पड़ता है। इसके साथ ही इस दिन बाल कटवाने भी नहीं चाहिए। ऐसा करने से बृहस्पति कमजोर होता है। इस दिन बाल कटाने से इसका दुष्प्रभाव संतान पर पड़ता है। यानि कि उनकी उन्नति नहीं हो पाती है।

ALSO READ  नींद में देखते है बांस का पेड़ ? तो जानें इसके कारण...

नाखून न काटना
कहते हैं कि इस दिन किसी को भी नाखून नहीं काटने चाहिए। क्योंकि बृहस्पति को जीव ग्रह माना जाता है, इसका संबंध आयु से होता है। इसके साथ ही पुरूषों के लिए शेविंग करना भी वर्जित है। बृहस्पति कमजोर होने के साथ-साथ व्यक्ति की आयु भी कम होती है।

कपड़े न धोना
बृहस्पतिवार के दिन कपड़े धोने, पोछा लगाने या घर धोने की मनाही है। वास्तु के अनुसार, बृहस्पति घर के ईशान कोण का स्वामी है। इस कोण का संबंध घर के बच्चों, संतान और धर्म तथा शिक्षा से होता है। इन कामों को करने से आपकी संतान और उसकी शिक्षा प्रभावित होती है। इसलिए इस दिन ये काम नहीं करने चाहिए। इसके साथ ही इस दिन घर का कबाड़ भी बाहर नहीं निकालना चाहिए। इससे बृहस्पति ग्रह के शुभ प्रभाव में कमी आती है।