व्रत एवं त्योहार

नवरात्रि 2019: नवरात्रि के 9 दिन पहनें इन रंगों के कपड़े और चढ़ाएं इस रंग का प्रसाद

25views

देवी दुर्गा के हर दिन का अपना अलग महत्व है। मां दुर्गा का हर स्वरूप अपनी अलग-अलग शक्तियों के लिए जानी जाती हैं। पूरे नौ दिन मां के लिए अलग-अलग रंग निर्धारित हैं। भक्त इस दिन अगर माता को प्रसन्न करने के लिए उनके रंग के अनुसार वस्त्र पहने हैं और उसी रंग का प्रसाद चढ़ाएं तो माता उनसे काफी प्रसन्न होती हैं। नवरात्रि में नौ दिनों तक देश भर में भक्त देवी दुर्गा की पूजा करते हैं। ये नौ दिन बहुत शुभ माने जाते हैं। कुछ भक्त पूरे नौ दिन तक व्रत भी रखते हैं। इस दौरान नौ दिन तक नौ अलग-अलग रंग के कपड़े पहनकर भक्त देवी दुर्गा को प्रसन्न कर सकते हैं। तो आइए जानें किस दिन कौन सा रंग माता को प्रिय होता है।

नवरात्र का पहला दिन शैलपुत्री का होता है। इस दिन आप पीले रंग पहने। दूसरा दिन मां ब्रह्मचारिणी का होता है। इस दिन आप हरे रंग पहने। नवरात्र का तीसरा दिन मां चंद्रघंटा का होता है। इस दिन आप भूरा रंग पहनें। इससे आपका हर काम बनेगा। चौथे दिन मां कुष्मांडा को प्रसन्न करने के लिए आप नांरगी रंग का कपड़े पहनें।

ALSO READ  नारियल का यह उपाय खोलेगा तरक्की रास्ते,बरसाएंगी मां लक्ष्मी की कृपा, जानें ये टिप्स

पांचवें दिन मां स्कंद माताका होता है और इसदिन आप सफ़ेद रंग पहनें। छठा दिन मां कत्यायनी का माना जाता है। इस दिन पूजा-पाठ के साथ लाल रंग के कपड़े पहने। नवरात्र के सांतवे दिन कालरात्रि मां की पूजा की जाती है। इस दिन आप नीला रंग के कपड़ें पहनें। आठवां दिन महागौरी का होता है। इसलिए इस दिन आप गुलाबी रंग के पहनकर पूजा अर्चना करें। शुभ लाभ मिलेगा। नवरात्र के नवें दिन सिद्धिरात्रि की पूजा करने का विधान है। इस दिन आप बैंगनी कलर के कपड़े। तो अब जानते हैं की किस दिन किसरंग का प्रसाद बनाया जाए।

ALSO READ  जानें किस तिथि में है गणेश चतुर्थी ? ये रहा शुभ मुहूर्त...

नवरात्रि के रंग दिन के अनुसार

           दिन का नाम      नवरात्रि के रंग      प्रसाद बनाएं

  • प्रतिपदा             पीला                     बेसन का हलवा या लड्डू
  • द्वितीया              हरा                      लौकी का हलवा या मिठाई
  • त्रितीया              भूरा                      गुलाब जामुन
  • चतुर्थी               संतरी                    संतरे की मिठाई
  • पंचमी              सफेद                    मखाने की खीर
  • षष्टी                 लाल                      सूजी का हलवा
  • सप्तमी             नीला                     ब्लू बेरी की मिठाई
  • अष्टमी              गुलाबी                   मावा की मिठाई यो पेड़ा
  • नवमी               बैंगनी                    जामुन
ALSO READ  जानिए गणेश चतुर्थी के शुभ मुहूर्त और पुजा की क्रियाविधि

तो माता को प्रसन्न करने के लिए वार अनुसार आप वस्त्र पहने और उसी अनुसार प्रसाद बनाकर माता को चढ़ाएं और कोशिश करें की कुंमारी कन्या को प्रसाद खिलाएं।