Gems & Stones

जानिए,माणिक्य रत्न पहनने के फ़ायदे

440views
Manik Gemstone Benefits: जीवन में तरक्की और खुशहाली हर कोई चाहता है। इसके लिए लोग खूब मेहनत भी करते हैं। लेकिन कई बार लोग तमाम कोशिशों और मेहनत के बाद भी उस मुकाम पर नहीं पहुंच पाते, जिसके वे हकदार होते हैं। यदि आपको भी तमाम कोशिशों और मेहनत के बाद भी नौकरी या बिजनेस में सफलता नहीं मिल पा रही है, तो ऐसी स्थिति में आपको ज्योतिष की सलाह लेनी चाहिए। ज्योतिष शास्त्र की शाखा रत्न शास्त्र में कुछ रत्नों को बेहद चमत्कारी माना गया है। इन रत्नों को धारण करने से तरक्की में आ रहीं रुकावटें खत्म हो जाती हैं। कुंडली में अशुभ ग्रहों के प्रभावों को कम करने और शुभ प्रभावों को बढ़ाने के लिए व्यक्ति को रत्न धारण करने की सलाह दी जाती है। इन्हीं रत्नों में से एक है माणिक रत्न। रत्न शास्त्र में माणिक रत्न को एक महत्वपूर्ण रत्न माना गया है।
माणिक्य धारण करने के लाभ:
ज्योतिष शास्त्र अनुसार माणिक्य धारण करके सूर्य उपासना करने से सूर्य की पूजा का फल दोगुना हो जाता है। साथ ही माणिक्य धारण करने से सूर्य प्रभावित रोग( ह्रदय रोग, आंख के रोग, पित्त विकार) रोगों से मुक्ति मिलती है। साथ ही सरकारी क्षेत्र से संबंधित कार्यों में आपको सफलता और तरक्की पाने में सूर्यदेव की कृपा मिलती है।आपके अंदर ऊर्जा और आत्मबल का विकास होता है। सरकरी नौकरी पाने के लिए भी माणिक्य धारण करना शुभ माना जाता है।

इस विधि के करें माणिक्य धारण:

-माणिक्य गुलाबी या लाल रंग का सबसे अच्छी क्लालिटी का माना जाता है।

-माणिक्य का वजन कम से कम 6 से सवा 7 रत्ती का होना चाहिए या फिर व्यक्ति को अपने वजन के अनुसार माणिक्य को धारण करना चाहिए।

-तांबा या सोने के धातु में माणिक्य को धारण करना सबसे शुभ माना जाता है।

-सूर्योदय होने के एक घंटे बाद माणिक्य रत्न को धारण करें, क्योंकि सूर्य देव के उगने के बाद उसकी शक्तियां दोगुनी हो जाती है।

-माणिक्य धारण करने से पहिले अंगूठी को गाय के दूध और गंगाजल से शुद्ध कर लें। उसके बाद मंदिर के सामने बैठकर एक माला सूर्य देव के मंत्र ऊं सूर्याय नम: का जाप करें। साथ ही सूर्य ग्रह से संबंधित कुछ दान निकालकर मंदिर में किसी पुजारी को चरण स्पर्श करके देकर आएं और फिर अंगूठी को धारण करें।

नौकरी में तरक्की दिलाएगा माणिक्य रत्न
रत्न शास्त्र के अनुसार, यदि आप नौकरी संबंधित परेशानी का सामना कर रहे हैं तो आपको माणिक रत्न पहनना चाहिए। इसे रूबी रत्न भी कहा जाता है। ये रत्न आपके लिए लाभकारी साबित होगा।
नेतृत्व करने की क्षमता को बढ़ाने में मददगार
रत्न शास्त्रों के अनुसार, जो व्यक्ति रूबी यानी माणिक रत्न धारण करता है, उसमें नेतृत्व करने की क्षमता काफी देखने को मिलती है। साथ ही उसे सरकारी सेवाओं के पदों से बहुत समर्थन और प्रशंसा प्राप्त होती हैं।
आत्मविश्वास को बढ़ाने में मददगार
रत्न शास्त्र के अनुसार, इस रत्न को धारण करने से व्यक्ति में आत्मविश्वास की क्षमता बढ़ जाती है। ज्योतिष के अनुसार, जो व्यक्ति इसे धारण करता है, उसके व्यक्तित्व में काफी निखार आता है। साथ ही इसे धारण करने से आंखों की रोशनी और रक्त परिसंचरण में सुधार होता है।
स्वास्थ्य की समस्या होगी दूर
कमजोर सूर्य वाले लोगों के लिए ये रत्न अच्छा माना जाता है। इसके अलावा जिस व्यक्ति में अपाचे, पीलिया दस्त, हाई और लो ब्लड प्रेशर जैसी समस्याएं से ग्रसित है उनके लिए माणिक रत्न बेहद लाभकारी होता है।
हड्डियों को मजबूत करने में मददगार

रत्न शास्त्र के अनुसार, रूबी रत्न को धारण करने से हड्डियां मजबूत होती हैं। इसके अलावा ये त्वचा संबंधित बीमारियों से निजात दिलाने में मदद करता है।

जरा इसे भी पढ़िये :-

दिल की दूरियाॅ मिटाने हेतु अद्भुत टोटके

घर की सुख-समृद्धि के लिए करें,लौंग के चमत्कारी उपाय…

पन्ना रत्न किसे पहनना चाहिए,जानें इसके फ़ायदे

नहीं लगता पढाई में मन ? तो करें ज्योतिष उपाय

नहीं आती है चैन की नींद ? तो अपनाएं ये उपाय

मंगल दोष निवारण उपाय

लाल किताब से जानें,काल सर्प योग के उपाय…

व्यापार मे आ रही रुकावट ? तो अपनाएं ज्योतिष उपाय

घर में न लगाए ये पौधे ? वरना बना देगा कंगाल