Gods and Goddess

महाशिवरात्रि पर शिवलिंग पर ये 10 चीजें अर्पित करना ना भूलें

70views

महाशिवरात्रि के आते ही भक्त अलग ही उत्साह में होते हैं और हर कोई अपने- अपने तरीके से उनको प्रसन्न करने का प्रयास करता है. लेकिन क्या आप जानते हैं उनको कौनसी चीज सबसे प्रिय है?

महाशिवरात्रि हिंदुओं का एक बेहद ही शुभ और बड़ा त्योहार है. भोले बाबा को प्रसन्न करने के लिए इस दिन भक्त खूब धूमधाम से ये त्योहार मनाते हैं. हिंदू मान्यता के अनुसार महाशिवरात्रि हिंदी कैलेंडर के 11वे महीने में मनाई जाती है. इस दिन को ‘ शिव की महान रात्रि’ के रुप में भी जाना जाता है. ऐसा कहते है कि इस दिन भगवान शिव ने धरती  को नष्ट होने से बचाया था. उन्होंने ये शर्त भी रखी थी, कि सभी भक्त उनकी सच्ची श्रद्धा से पूजा  और उपासना करें. वैसे धारणाए और मान्यताएं तो और भी बहुत है, लेकिन आज हम आपको बताते हैं कि भोले बाबा को कैसे प्रसन्न किया जाए जिससे ये महाशिवरात्रि  आपके परिवार के लिए शुभ रहे.

भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए उन पर ये 10 चीजे अर्पित जरुर करें-

ALSO READ  जब गुरू नवम भाव में हो तो उसका प्रभाव

1. दूध– भोले बाबा का दूध से अभिषेक करना अत्यंत ही पु्ण्यकारी माना गया है. दूध अर्पित करने से व्यक्ति सदैव स्वस्थ और रोग मुक्त रहता है. विष्णुपुराण के अनुसार समुद्र मंथन के दौरान शिवजी ने सारा विष अपने कंठ में ग्रहण कर लिया था,जिसके चलते उनका पूरा शरीर नीला पड़ने लगा. तब सभी देवताओं ने उनका दूध से अभिषेक किया और विष का असर उन पर कम हो गया. तब से ही भगवान शिव को दूध अत्यंत ही प्रिय है.

2. जल– अगर ऊं नमः शिवायः का जाप करते हुए शिवलिंग पर जल अर्पित करेंगे तो आपका चित शांत होगा और आपके अंदर करुणा आएगी. मान्यता के अनुसार विष का प्रभाव कम करने के लिए देवताओं ने उनके ऊपर  जल डाला था. तब से उनको नीलकंठ  के नाम से सुशोभित किया गया.

3. चीनी- महाशिवरात्रि पर शिवलिंग पर चीनी भी अर्पित की जाती है. इस पावन अवसर पर भोले बाबा को चीनी अर्पण करना लाभदायक है. इससे आपके घर में कभी यश, वैभव और कीर्ति की कमी नहीं होगी और उनका आर्शीवाद सदैव बना रहेगा.

ALSO READ  जब गुरू नवम भाव में हो तो उसका प्रभाव

4. केसर– लाल केसर से शिव जी का तिलक करने  से जीवन में सौम्यता आती है और मांगलिक दोष समाप्त होता है. ऐसा कहते है कि महाशिवरात्रि पर अगर अपने व्यापारिक दस्तावेजों पर केसर से तिलक करेंगे, तो सभी अड़चने दूर होंगी और धंधा कभी मंदा नहीं पड़ेगा.

5.इत्र– शिवलिंग पर इत्र छिड़कना शुभ माना गया है. इत्र के छिड़काव से हमारे मन की शुद्धि होती है और  हम तामसी प्रवतियों से मुक्त हो पाते हैं. भोले बाबा पर इत्र छिड़कने से भक्तों को सद्बुद्धि मिलती है और वो कभी भी सत्य की राह से नही भटकते.

6. दही– शिव जी को दही चढ़ाने से व्यक्ति परिपक्व बनता है और उसके जीवन में स्थिरता आती है. ऐसी भी मान्यता है कि अगर भोले बाबा को नियमित रूप से दही अर्पण किया जाए, तो  जीवन की सभी अड़चने, कठिनाइंया दूर होती है.

7. घी– देसी घी शक्ति का परिचायक है. इसलिए शिवलिंग पर घी से अभिषेक करने से व्यक्ति बलवान बनता है. संतान प्राप्ति के लिए भी भगवान शिव को घी चढ़ाए. ऐसा करने से घर में बच्चे की किलकारी अवश्य गूंजेगी.

ALSO READ  जब गुरू नवम भाव में हो तो उसका प्रभाव

8.चंदन– वेद पुराणों के मुताबिक महाकाल को चंदन लगाने से एक इंसान को आकर्षक रूप मिलता है और उसके जीवन में मान, सम्मान और ख्याति की कभी कमी नहीं आती .

9. शहद– शहद का अर्थ होता है मीठा. ऐसा माना जाता है भोले बाबा कभी भी किसी की तरफ किसी भी प्रकार का द्वेष नहीं रखते. तो शिव जी को शहद लगाने से वाणि में मधुरता आती है और दिल में परोपकार की भावना जागती है.

10. भांग- भगवान शिव और भांग का बहुत गहरा रिश्ता है. ऐसा कहा जाता है कि समुद्र मंथन के समय विष के प्रभाव को कम करने के लिए भांग का भी प्रयोग किया गया था. हमारे पुराणों में भांग को एक दिव्य औशधी के रुप में देखा गया है जिससे चमड़ी के रोगों का इलाज संभव है.