Other Articles

रातभर नहीं आती अच्‍छी नींद ?जानिए ज्योतिषीय कारण और उपाय

244views
रातभर नहीं आती अच्छी नींद?
जानिए आपका शरीर दे रहा है कौन से संकेत ?जानिए ज्योतिषीय कारण और उपाय
यदि आपको रात में सोने में कठिनाई होती है, तो आपको इसके संकेतों को जानना बहुत जरूरी है। इन संकेतों से अवगत होने के बाद आप काफी हद तक नींद में सुधार कर सकेंगे।
हममें से कई लोग रात में जल्दी सो नहीं पाते। करवट बदलते रहते हैं। नतीजा, नींद पूरी नहीं होती और सुबह उठकर फिर से काम में लग जाते हैं और इसके बाद पूरे दिन सुस्ती और आलस महसूस होता रहता है। जाहिर सी बात है इसका असर परफॉर्मेंस पर भी पड़ेगा। कभी -कभी नींद ना आना आम है, लेकिन लगातार आपके साथ यह स्थिति बन रही है, तो जरूर सोचना चाहिए कि आखिर ऐसा क्यों हो रहा है?
नींद न आने का कारण जाने बगैर समस्या का समाधान करना मुश्किल है। दरअसल, हमारा शरीर हमारे स्वास्थ्य के लिए कम्यूनिकेट करता है और हमारी खराब नींद का संकेत देता है।
स्लीप डिसऑर्डर जैसे रेस्टलैस लैग्स सिंड्रोम, जेट लैग और इंसोमनिया आपको सोने से रोक सकती हैं।
नींद व्यक्ति की सबसे ज्यादा आवश्यक आवश्यकता है. बिना नींद या कम नींद के हम कई बीमारियों और समस्याओं के शिकार हो सकते हैं. ज्योतिष में लग्न,चतुर्थ,अष्टम और द्वादश भाव से नींद और शैय्या सुख देखा जाता है. शनि नींद का प्रमुख ग्रह है. इसके अलावा चन्द्रमा,शुक्र और बुध भी नींद से सम्बन्ध रखते हैं. जलीय और वायु राशियाँ भी नींद की ही राशियाँ होती हैं.
कब नींद अच्छी आती है?
– शनि की प्रधानता होने से -चन्द्रमा,शुक्र या बुध के अच्छे स्थान पर होने से अच्छी नींद आती है -केंद्र या अष्टम भाव में केवल शुभ ग्रह होने से भी अच्छी नींद आती है -कुंडली में जल तत्व की मात्रा मजबूत होने पर भी नींद अच्छी होती है
-कर्क,वृश्चिक,मीन,मिथुन,तुला और कुम्भ राशी के लोगों को सामान्यतः अच्छी नींद आती है -जिनके घर के पास जल का स्रोत होता है ऐसे लोगों को भी अच्छी नींद आती है
कब नींद आने में समस्या होती है?
– शनि के दूषित होने पर नींद मे समस्या होती ही है -चन्द्रमा या शुक्र के पीड़ित होने पर अकारण नींद नहीं आती -इनके साथ अगर बुध पीड़ित हो तो चिंता से नींद नहीं आती
-अगर कुंडली में अग्नि तत्व या पृथ्वी तत्व प्रधान हो तो भी मुश्किल होती है -मंगल की प्रचंडता शारीरिक तकलीफ से नींद नहीं आने देती
क्या हैं अच्छी नींद के ज्योतिषीय उपाय?
-सोने के कमरे का रंग क्रीम , हल्का हरा या गुलाबी रखें -कमरे में हल्की सुगंध का प्रयोग करें -पलंग के नीचे कोई भी सामान न रखें , खास तौर से लोहा – शयन कक्ष मे गंदे कपड़े भी न रखें -गले में चांदी जरूर धारण करें,
लाल तिलक का प्रयोग न करें
-पलंग के पाए के पास लोटे में जल भरकर रक्खें सुबह उठकर उस जल को पौधों में डाल दें -जिस कमरे में सूर्य और चन्द्रमा की किरणें आती हों उसी कमरे को सोने के लिए प्रयोग करें – सलाह लेकर एक मोती अथवा ओपल धारण करें
साथ ही अगर आप वाकई एक अच्छी नींद लेना चाहते हैं, तो हेल्दी डाइट लें और इन विकारों से निपटने के लिए स्ट्रेस मैनेजमेंट की प्रेक्टिस करें। प्रभावी उपचार के लिए आप डॉक्टर से भी संपर्क कर सकते हैं।
ALSO READ  जानें,कालसर्पयोग के टोटके और उपाय