Other Articlesउपाय लेख

रात में नहीं आती नींद तो करें उपाय…

83views

रात में नहीं आती नींद तो करें उपाय…

कुछ लोग स्लीप डिसऑर्डर इन्सोम्निया से ग्रस्त हो जाते हैं और जब रात में नींद नहीं आती है, तो नींद आने की दवा खाने लगते हैं. लेकिन, बार-बार दवाओं का सेवन सेहत को नुकसान भी पहुंचा सकता है।ऐसे में आप गहरी नींद में सोने के लिए कुछ आसान से टिप्स को फॉलो करके देखें।आजकल नींद ना आने की समस्या से बहुत लोग जूझ रहे हैं.वजह है जीवन में बढ़ता स्ट्रेस लेवल.तनाव,एंग्जायटी के कारण लोगों को रात में नींद नहीं आती है.किसी को जॉब खोने का टेंशन है तो।

किसी की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं होने के कारण तनाव है. रात दिन जिंदगी में चल रहे उतार-चढ़ाव के कारण लोग ठीक से सो भी नहीं पाते हैं. कुछ लोग ऐसे भी होते हैं, जो अपनी आदतों के कारण देर रात तक जागते हैं और सुबह फ्रेश महसूस नहीं करते हैं. यदि प्रतिदिन सुकून की नींद नहीं लेंगे, तो कई तरह की अन्य शारीरिक समस्याएं शुरू हो सकती हैं।

ALSO READ  जानें क्यों दिखती है सपने में लड़की ?

कुछ लोग तो स्लीप डिसऑर्डर इन्सोम्निया से ग्रस्त हो जाते हैं और जब रात में नींद नहीं आती है तो नींद आने की दवा खाने लगते हैं. लेकिन, बार-बार दवाओं का सेवन सेहत को नुकसान भी पहुंचा सकता है.ऐसे में आप गहरी नींद सोने के लिए कुछ आसान से टिप्स को कुछ दिनों के लिए फॉलो करके देखें।

स्टाइल्सएटलाइफ डॉट कॉममें छपी एक खबर के अनुसार, यदि आपको रात में गहरी नींद से सोना है, तो प्रतिदिन मेडिटेशन का अभ्यास करना शुरू कर दें.एक शांत और एकांत जगह पर आप बैठकर मेडिटेशन कर सकते हैं. मेडिटेशन से दिमाग रिलैक्स होता है. तनाव कम होता है. मन से नेगेटिव और व्यर्थ के विचारों को बाहर निकालने में मदद करता है.यदि किसी को इन्सोम्निया की समस्या है, तो प्रतिदिन 15 से 20 मिनट मेडिटेशन ज़रूर करें।वर्षों से लैवेंडर के तेल को इन्सोम्निया की समस्या को दूर करने के लिए यूज किया जा रहा है।

ALSO READ  परेशानी से छुटकारा के लिए करें ये उपाय

यह तेल मन-मस्तिष्क को शांत का अहसास कराता है.इस तेल के सैशे को रात में तकिया के नीचे रखकर सोएं. अपने रूमाल पर दो से तीन बूंदें लैवेंडर ऑयल को स्प्रे कर दें या फिर नहाने के पानी में भी कुछ बूंदें डाल सकते हैं।

इसे रात में नींद अच्छी आएगी ।मैग्नीशियम की कमी से भी स्ट्रेस बढ़ता है.यह एक प्राकृतिक रूप से पाया जाना वाला मिनरल है, जो मांसपेशियों को रिलैक्स करता है. इससे नींद अच्छी आती है. साबुत गेहूं, पालक, डार्क चॉकलेट, दही, एवोकाडो आदि का सेवन करें।

प्रतिदिन कम से कम 400 मिलीग्राम पोटैशियम का सेवन स्वस्थ नींद को बढ़ावा देता है।यदि आप चाहते हैं कि आपको अच्छी और सुकून भरी नींद आए, ताकि आप सुबह फ्रेश मूड में उठकर अपने ऑफिस और घर के कार्यों को पूरा कर पाएं, तो कुछ स्लीप हाइजीन को मेंटेन करें. इसके तहत आपको जीवनशैली में कुछ बदलाव लाने होंगे. इसमें कैफीन, एल्कोहल, धूम्रपान आदि का सेवन कम करना होगा।

ALSO READ  संतान सुख में बाधा ? तो अपनाए ज्योतिष उपाय

प्रत्येक दिन एक्सरसाइज करनी होगी. साथ ही जिस कमरे में आप सोते हैं, वहां का वातावरण खुशनुमा, तन-मन को रिलैक्स और दिमाग को शांति देने वाला हो।

मेलाटोनिन सप्लिमेंट्स भी इन्सोम्निया की समस्या दूर कर अच्छी नींद लेने में मदद करता है. मेलाटोनिन नींद की गुणवत्ता को बढ़ाता है. इससे जल्दी सोने में मदद मिलती है.बादाम के दूध में कैल्शियम की मात्रा अच्छी होती है, जो मस्तिष्क को मेलाटोनिन बनाने में मदद करती है. रात में सोने से पहले एक गिलास गर्म बादाम वाला दूध पीने से अनिद्रा से राहत मिलती है।