Astrology
Archive

Month: March 2019

सिंह-कन्‍या राशि वालों के लिए पीला रंग है शुभ तो धनु राशि वाले नारंगी रंग से खेलें होली

 हिंदुओं का लोकप्रिय त्योहार होली अब काफी करीब है। हिंदू कैलेंडर के हिसाब से इस बार होलिका दहन 20 मार्च यानि बुधवार और बड़ी होली 21 मार्च को मनाई जाएगी। होली रंगों का त्योहार है और माना जाता है कि प्रत्येक रंग का कोई न कोई अर्थ जरूर होता है।…

होली के दिन काली हल्‍दी के ये टोटके कभी नहीं जाते खाली, धन-धान्य से भर जाती है तिजोरी

इंसान जीवन में कई बार कष्ट अपने कर्मों से नहीं बल्कि अपने दुश्मनों के कारण ज्यादा उठाता है। लोगों के मित्र कम दुश्मन ज्यादा बन जाते हैं और ऐसा उन लोगों के साथ ही होता है जो दिल और दिमाग से साफ होते हैं। ऐसे लोगों के दुश्मन इतने होते…

राशिफल दिनांक 21 मार्च: मीन राशि वालों का भाग्य पक्ष मजबूत है, जानें अपनी किस्मत

आज मकर के जातक धन की प्राप्ति करेंगे। कर्क ,सिंह और तुला के जातक नवीन अवसरों की प्राप्ति करेंगे। धनु तथा मीन के लोग वाहन का प्रयोग सावधानी पूर्वक करें। मीन ,तुला तथा वृष के  छात्र सफल रहेंगे। कर्क राश‍ि वालों की धार्मिक कार्यों में रुचि रहेगी। मकर राश‍ि वालों…

बढ़ते सामाजिक अपराध का ज्योतिष कारक

मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है। वह समाज का एक सदस्य है और समाज के अन्य सदस्यों के प्रति प्रतिक्रिया करता है, जिसके फलस्वरूप समाज के सदस्य उसके प्रति प्रक्रिया करते हैं। यह प्रतिक्रया उस समय प्रकट होती है जब समूह के सदस्यों के जीवन मूल्य तथा आदर्श ऊंचे हों, उनमें…

अमरनाथ: श्रद्धा और रोमांच की यात्रा

 पहाड़, नदी, झरने, सफेद चमकती बर्फ, खूबसूरत घाटियां और बर्फ से जमी हुई नदियों से गुजरना। इतना ही काफी है अमरनाथ के सफर को बयां करने के लिए। हालांकि इस साल यात्रा के लिए रजिस्ट्रेशन फिलहाल बंद हो चुका है लेकिन जिन्होंने पहले ही रजिस्ट्रेशन करा लिया है उनकी यात्रा…

मेरी तो किस्मत ही खराब है

पुरूषार्थ का महत्व भाग्य से अधिक है साथ ही अधिकांश लोगो की मान्यता होती है कि भाग्य नाम की कोई चीज नहीं होती जितना कर्म किया जाता है उसी के अनुरूप फल मिलता है किंतु जीवन की कई अवस्थाओं पर नजर डाले तो भाग्य की धारणा से इंकार नहीं किया…

पितृ ऋण, देव ऋण,आचार्य ऋण, मातृ ऋण

 वैदिक काल से मान्यता है कि किसी भी मानव के जीवन में पितृ ऋण, देव ऋण, आचार्य ऋण, मातृऋण के कारण जीवन में असफलता तथा हानि बीमारी का सामना करना पड़ता है। माना जाता है कि इंसान को अपनी जिंदगी में कर्ज, फर्ज और मर्ज को कभी नहीं भूलना चाहिए।…

गर्भपात (संतान हानि) – एक ज्योतिष विश्लेषण

विवाह के बाद प्रत्येक व्यक्ति ना सिर्फ वंश पंरपरा को बढ़ाने हेतु अपितु अपनी अभिलाषा तथा सामाजिक जीवन हेतु संतान सुख की कामना करता है। शादी के दो-तीन साल तक संतान का ना होना संभावित माना जाता है किंतु उसके उपरांत सुख का प्राप्त ना होना कष्ट देने लगता है…

आर्द्रा नक्षत्र

वैदिक ज्योतिष के अनुसार कुंडली से की जाने वाली गणनाओं के लिए महत्वपूर्ण माने जाने वाले सताइस नक्षत्रों में से आर्द्रा नक्षत्र को छठा नक्षत्र माना जाता है। आर्द्र का शाब्दिक अर्थ है नम तथा आर्द्रा का शाब्दिक अर्थ है नमी और इस नमी को विभिन्न वैदिक ज्योतिषी भिन्न भिन्न…

क्या आप बच्चे के अति आक्रामकता से परेशान है?

 किसी जातक की प्रकृति अथवा उसका मूलभूत व्यवहार उसके जन्म के समय से ही निर्धारित हो जाता है। कुछ गंभीर किस्म के तो कुछ लगातार क्रियारत रहने की प्रवृत्ति वाले होते हैं। अधिकांश अभिभावक अपने बच्चों को सचिन तेंदुलकर या महेंद्र सिंह धोनी जैसी प्रसिद्धि तो दिलाना चाहते हैं किंतु…

होलिका दहन आज, इस विधि से करें पूजा-अर्चना, जानें क्या है शुभ मुहूर्त

होली के रंगों को खास मनाने के लिए होलिका दहन का अपना महत्व होता है. फाल्गुन माह के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि पर प्रदोष काल में होलिका दहन किया जाता है. पूर्णिमा के दिन चौराहों पर होलिका दहन किया जाता है. इस दिन बड़ी संख्याओं में महिलाएं होली की पूजा…

16.03.2019 का पंचाग और राशिफल

दिनांक 16.03.2019 का पंचाग शुभ संवत 2075 शक 1940 सूर्य उत्तरायण का …फाल्गुन शुक्ल पक्ष दशमी रात्रि 11 बजकर 33 मिनट तक… दिन.. शनिवार … पुनवर्सु नक्षत्र रात्रि को 02 बजकर 13 मिनट … चंद्रमा आज मिथुन राशि में .. आज का राहुकाल दिन को 09 बजकर 13 मिनट से…

शनिवार को इस विधि से करें शनि देव की पूजा, मिलेगा ‘शनि दोष’ से छुटकारा

शनिवार के दिन भगवान शनिदेव की पजा होती है। शनि देव को न्‍याय का देवता माना जाता है। बहुत से लोग उनसे डरते हैं मगर वह ऐसे देवता हैं जो सभी के कर्मों का फल देते हैं। उनसे कोई भी बुरा काम नहीं छुपा है। कुंडली में यदि शनि अशुभ…

मीन संक्रांति – मांगलिक कार्य वर्जित

सूर्य कुंभ राशि से निकलकर आज गुरू की राशि मीन में गोचर कर रहा है। ज्योतिष शास्त्र में गुरु की राशि में सूर्य का परिभ्रमण मलमास (खरमास) कहलाता है। सूर्य की राशि में गुरू और गुरू की राशि में सूर्य होने से शुभ कार्य वर्जित माना जाता है। सूर्य का…

इस संसार से पलायन करने के दो मार्ग हैं- एक प्रकाश का और दूसरा अंधकार का…

इस संसार से पलायन करने के दो मार्ग हैं- एक प्रकाश का और दूसरा अंधकार का। जब मनुष्य प्रकाश मार्ग से जाता है तो वह वापस नहीं आता और अंधकार मार्ग से जाने वाले को पुन: लौट कर आना होता है। (गीता – 8/26) हम इंसानों के पास गीता के…

आकस्मिक हानि से संबंधित ज्योतिष कारक

 व्यक्ति के जीवन में कई बार आकस्मिक हानि प्राप्त हेाती है साथ ही कई बार योग्यता तथा सामथ्र्य होने के बावजूद जीवन में वह सफलता प्राप्त नहीं होती, जिसकी योग्यता होती है। इस प्रकार का कारण ज्योतिषषास्त्र द्वारा किया जा सकता है। यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में प्रथम, द्वितीय,…

सामाजिक विकास से संबंधित ज्योतिष कारक

मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है। वह समाज का एक सदस्य है और समाज के अन्य सदस्यों के प्रति प्रतिक्रिया करता है, जिसके फलस्वरूप समाज के सदस्य उसके प्रति प्रक्रिया करते हैं। यह प्रतिक्रया उस समय प्रकट होती है जब समूह के सदस्यों के जीवन मूल्य तथा आदर्ष ऊॅचे हों, उनमें…

प्रदोष व्यापिनी अमावस्या

मार्गषीर्ष मास की अमावस्या को अपने पितरों तथा पूर्वजो को पूजन, याद करने तथा उनकी मुक्ति हेतु दान करने का होता है। इस माह में किए गए दान एवं पूण्य जीवन में सुख तथा समृद्धिदायी होती है साथ ही कष्टों को दूर करने वाली होती है। मार्गषीर्ष मास के अमावस्या…

सफल खिलाड़ी बनने के ग्रह संयोग

प्राचीनकाल से खेल के प्रति रूझान रहा है, जिसका कारण लोगों को एकजुट रखना तथा शरीर सौष्ठव को कायम रखने से रहा है किंतु वर्तमान काल में खेल से धन शोहरत के साथ अपार लोकप्रियता तथा बड़ी-बड़ी कंपनियों से अनुबंध के साथ धन तथा नौकरी का लाभ भी प्राप्त होता…

श्री महानंदा नवमी व्रत

मार्गषीर्ष शुक्ल- पक्ष नवमी को श्री महानंदा नवमी व्रत किया जाता है। माना जाता है कि इस दिन श्री की देवी का पूजन करने से दारिद्रय सामाप्त होकर संपन्नता तथा विष्णुलोक की प्राप्ति होती हैं इस दिन पूजनस्थल के मध्य में एक बड़ा अखण्ड दीपक जलाकर रात्रि जागरण एवं ओं…

खुशी में भी महादेव करते हैं तांडव, जानें इसका रहस्य

ऐसा कहा जाता है कि महादेव जब क्रोध में होते हैं वे तांडव करना शुरू कर देते हैं. इसके अलावा उनके तांडव के चलते समस्त सृष्टि का भी विनाश हो सकता है. लेकिन बता दें, तांडव सिर्फ क्रोध में नही किया जाता बल्कि खुशी के मौकों पर भी भोलेनाथ तांडव…

जानें, क्या है शिव चालीसा के पाठ का सही तरीका?

पूजा पाठ में शिव चालीसा का बहुत महत्व है. शिव चालीसा के सरल शब्दों से भगवान शिव को प्रसन्न किया जा सकता है. शिव चालीसा के पाठ से कठिन से कठिन कार्य को बहुत ही आसानी से किया जा सकता है. शिव चालीसा की 40 पंक्तियां सरल शब्दों में विद्यमान…

राशिफल 11 मार्च: किस्‍मत देगी वृष राशिवालों का साथ, रुके काम होंगे पूरे, बढ़ेगी इनकम

क्षत्र अपनी चाल हर समय बदलते हैं. इन नक्षत्रों का हमारे जीवन पर भी बहुत प्रभाव पड़ता है. ज्योतिष विज्ञान के अनुसार कौन सा ग्रह और नक्षत्र आपकी कुंडली के कौन से घर में जा रहा है, इसके मुताबिक आपका जीवन प्रभावित होता है. ग्रहों की रोज बदलती चाल के…

आज का राशिफल दिनांक 10 मार्च : आज बन रहे हैं शुभ योग, इन राशियों के लोगों को मिलेगा सबसे ज्‍यादा फायदा

Horoscope Today 10 March 2019:आज का दिन कन्या व वृश्चिक राशि वालों के लिए खुशियों भरा है। आज सितारे धार्मिक कार्यों में कर्क तथा कन्या राशि वालों को व्यस्त रखेंगे। सिंह तथा कर्क राशि के पॉलिटिशियन सफल रहेंगे। आज का दिन मिथुन तथा मीन के छात्रों के लिए बहुत शुभ…

शास्त्रों के अनुसार बेहद गुणीं होती हैं ये महिलाएं, जिस घर भी जाती हैं चमका देती हैं किस्मत

हिंदू शास्त्रों के अनुसार गुण से भरी महिलाएं अच्‍छी जीवनसाथी साबित होती हैं। विवाह करने के लिए जब आप महिलाओं के लक्षणों पर नजर डालते हैं तो आपको अलग-अलग गुणों से भरी महिलाएं देखने को मिलती हैं। मगर शास्‍त्र के अनुसार यदि किसी भी महिला में 5 गुण मिल जाएं…

आज का राशिफल दिनांक 8 मार्च : आज इन राशियों पर मेहरबान हैं सितारे, खुशी और उमंग से भरा रहेगा दिन

गुरु वृश्चिक राशि में हैं। मकर,तुला,कुम्भ और वृष राशि के टेक्निकल फील्ड तथा मैनेजमेंट फील्ड से सम्बद्ध जातक लाभान्वित होंगे। वृष राश‍ि वाले संतान की सफलता से खुश रहेंगे। वृश्चिक राश‍ि वाले लव लाइफ में आज टूरिंग और स्वादिष्ट भोजन का आनंद उठाएंगे। तुला राश‍ि वाले फिल्म और टीवी फील्ड…

राहु का राशि परिवर्तन “मेष, सिंह, कन्या व मकर राशि को जबरदस्त लाभ मिलेगा”

भारतीय ज्योतिष के अनुसार राहु नामक छाया ग्रह अत्यंत बलवती पापाग्रह के नाम से जाना जाता है। जिसके फलस्वरूप गोचर में राशि से तृतीय अर्थात् मेष राशि, छठे यानी मकर राशि एवं एकादश अर्थात् सिंह राशि के लिए यह चातुर्दिक विकास का मार्ग प्रशस्त करने वाला कहा जाएगा। वहीं मीन,…

भौम प्रदोष व्रत – कर्ज से मुक्ति का ज्योतिषीय समाधान

प्राचीन काल से आज आधुनिक जीवनषैली की आवष्यकता को देखते हुए कर्ज लेना मजबूरी है किंतु कई बार यहीं लिया गया कर्ज तनाव तथा रोग का कारण होता है तो वहीं पर सामाजिक प्रतिष्ठा तथा विष्वसनीयता पर भी प्रष्नचिन्ह लग जाता है। इस प्रकार यदि कोई व्यक्ति प्रायः कर्ज लेकर…

कालसर्प दोष की भ्रांति और ज्योतिषीय यर्थाथ –

ज्योतिषीय आधार पर कालसर्प दो शब्दों से मिलकर बना है ‘‘काल’’ और ‘‘सर्प’’ । काल का अर्थ समय और सर्प का अर्थ सांप अर्थात् समय रूपी सांप। ज्योतिषीय मान्यता है कि जब सभी ग्रह राहु एवं केतु के मध्य आ जाते हैं या एक ओर हो जाते हैं तो कालसर्प…

षटतिला एकादशी: जानें षटतिला एकादशी व्रत कथा और महत्व

षट्तिला एकादषी का व्रत माघ माह की कृष्णपक्ष की एकादषी को मनाया जाता है। इस दिन भगवान कृष्ण की पूजा का विधान है। एकादषी का व्रत रखने वाले दषमी के सूर्यास्त से भोजन नहीं करते। एकादषी के दिन ब्रम्हबेला में भगवान कृष्ण की पुष्प, जल, धूप, अक्षत से पूजा की…