Gods and Goddess

Hanumaanji upay : हर मंगलवार हनुमान जी को लगाएं गुड़ का भोग, देखें चमत्‍कार

71views

संकट ऐसी चीज हैं तो कभी बता कर नहीं आता, लेकिन इससे बचने के लिए हमेशा तत्पर रहना चाहिए। मंगलवार का दिन भगवान हनुमान का होता है और वह सबसे बड़े संकटमोचन हैं। तो मंगलवार को कुछ उपाय हर बार जरूर करने चाहिए।

Tuesday remedies for happiness: अगर आप पर ऐसा संकट आन पड़ा है जिसका कोई हल नजर न आ रहा हो तो आप संकटमोचन की शरण में जाएं। भगवान हनुमान का याद कर भर लेने से कई संकट का हल नजर आने लगता है। इसलिए मंगलवार के दिन आप दुख में ही नहीं सुख में भी कुछ कार्य व पूजन जरूर करें। इससे आपके आसपास खतरा टल जाएगा। इतना ही नहीं कई बार भाग्य में अगर संकट लिखा है तो वह होता ही है लेकिन आपके इन उपायों से उसका रूप बदल जाता है और बड़ा सकंट छोटे संकट के रूप में सामने आता है। लेकिन ऐसा तभी होता है जब आप इसके लिए प्रयास करते हैं।

ALSO READ  जब गुरू नवम भाव में हो तो उसका प्रभाव

भगवान हनुमान की विधिवत पूजा करते हैं। अगर आपके पास समय न हो तो कम से कम प्रत्येक मंगलवार को ही इन उपायों को जरूर कर लें। तो आइए जानते हैं कि वह कौन से उपाय हैं जिन्हें मंगलवार के दिन किया जाना चाहिए।

हर मंगलवार को करें ये काम, संकट होगा दूर

1. हर मंगलवार के दिन हनुमान जी को गुड़ का भोग लगाएं और इस गुड़ को बाद में गाय को खिला दें।
2. हनुमान जी की प्रतिमा या तस्वीर पर आप दीपक जलाएं, लेकिन इस दीपक में तेल चमेली का होना चाहिए।
3. किसी मंगलवार भगवान हनुमान को लाल रंग का रुमाल चढ़ाएं और प्रसाद की तरह इस रुमाल को अपने साथ हमेशा रखें। इस रुमाल को यूज नहीं करना बल्कि अपने साथ रखना है। चाहे जहां भी जाएं ये रुमाल साथ रखें।
4. वैसे से ये काम आप किसी दिन भी कर सकते हैं लेकिन मंगलवार के दिन गरीब मजदूर को चाय जरूर पिलाएं।
5. मंगलवार के दिन गरीब बच्चों में लाल रंग की मिठाई बांटें।
6. एक चीज आप याद रखें रसोई में खाने का वेस्ट होने देने से बचें। खास कर सब्जी न जलने दें और दूध न गिरने दें।
7. मंगलवार को हनुमान जी का व्रत करें तो कभी भी नमक न खाएं। मीठा प्रसाद में बांटें।
8. मंगलवार को मिष्ठान का दान करते हैं तो मीठा न खाएं। जिस वस्तु का दान किया जाता है, उसे उस दिन स्वयं नहीं खाना चाहिए।
9. मंगलवार के दिन कभी भी हवन नहीं करना चाहिए। हवन करना मंगलवार को वर्जित होता है

ALSO READ  जब गुरू नवम भाव में हो तो उसका प्रभाव

हर मंगलवार को व्रत रखना श्रेयस्कर होता हैं, लेकिन अगर आप व्रत न कर पाएं तो कम से कम मंगलवार के दिन कुछ उपाय या ऊपर दिए टोटके जरूर आजमाएं। मन में श्रद्धा और विश्वास के साथ ये सारे उपाय करें।