Other Articles

अच्छी नींद के लिए करें ये उपाय 

127views

अच्छी नींद के लिए करें ये उपाय 

अच्छी नींद के लिए उपाय 

वास्तु में हर सोने की दिशा के बारे में बताया गया है. सोते समय सिरहाना पूरब और दक्षिण की ओर और पैर पश्चिम व उत्तर दिशा की तरफ होना चाहिए. पृथ्वी के चुंबकीय क्षेत्र का प्रभाव व्यक्ति की सेहत पर पड़ता है. वास्तु के अनुसार सिर दक्षिण और पैर दक्षिण दिशा में करने से पर शरीर की प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि होती है और सेहत अच्छी रहती है.सुख-शान्ति के लिएव्यक्ति के जीवन में धार्मिक पुस्तकों का विशेष महत्व होता है क्योंकि इससे व्यक्ति सदगुणी और शांत स्वभाव का बनता है. वास्तु शास्त्र में धार्मिक पुस्तकों को रखने की जगह के बारे में भी बताया गया है. धार्मिक ग्रंथों को हमेशा पश्चिम की दिशा में रखना शुभ माना गया है. धार्मिक पुस्तकों और ग्रंथों को कभी भी भूलकर बिस्तर में तकिए की नीचे नहीं रखना चाहिए।

अच्छी और आरामदायक नींद पाने के लिये इन 10 तरीक़ों को अपनाएं।

सोने और जागने का समय निर्धारित करें

लगभग हर रोज़ एक ही समय पर सोने और जागने का एक नियमित समय तय करें, इससे आपके शरीर को अच्छी और बेहतर नींद मिलेगी। सोने के लिए ऐसा समय चुनें जब आपको थकान महसूस हो रही हो और आपको आसानी से नींद आ जाये।

माहौल ऐसा बनाये जिसमे आपको आसानी से नींद आ जाये

आपके आराम करने वाले कमरे का आपके लिये शांतिपूर्ण होना चाहिये। आपके कमरे का तापमान, रोशनी और शोर सभी पूरी तरह नियंत्रित होनी चाहिये, जिससे आपके सोने के कमरे का वातावरण आपके अच्छी नींद लेने मे सहायक बने।

अगर आपके पास कोई पालतू जानवर हैं जो आपके साथ आपके कमरे मे सोता हैं, और आपको रात मे परेशान करता हैं तो ज्यादा अच्छा रहेगा आप इसे दूसरे कमरे मे सुला दे ,ताकि आप आराम से सो सके।

ALSO READ  श्री महाकाल धाम अमलेश्वर में 27,28,29 मई को होगा महा यज्ञ...

आरामदायक बिस्तर पर सोएँ

ऐसे किसी गद्दे पर आराम से सोना मुश्किल है जो या तो बहुत नरम या बहुत कठोर है, या एक बिस्तर जो बहुत छोटा या पुराना है।

नियमित व्यायाम करे

नियमित रूप से मध्यम शक्ति वाले व्यायाम करना, जैसे तैराकी या पैदल चलना, दिन भर के तनाव को दूर करने में मदद कर सकता है। सुनिश्चित करें कि आप सोते समय जोरदार व्यायाम नहीं करते हैं, जैसे दौड़ना या जिम, क्योंकि यह आपको जागृत रख सकता है।

आप अपनी सुविधा के अनुसार अपने आप को किस तरह तंदुरुस्त रख सकते हैं देखे।

कैफीन वाली चीजों को कम लें

चाय, कॉफी, एनर्जी ड्रिंक्स और कोला जैसी चीजों से दूर रहे, ख़ासकर शाम के समय इनचीजों को न ले। कैफीन आपकी नींद मे बाधा उत्पन्न कर सकता है,और आप अच्छी नींद नहीं ले पाते। इसलिये अच्छा रहेगा आप सोने से पहले गर्म दूध या हर्बल चाय पीये।

जरूरत से ज्यादा खाना और शराब, इनका सेवन देर रात को करने से भी, आपकी नींद के नियम मे बाधा उत्पन्न होती हैं। शराब का सेवन करने से आपको पहले से ही नींद आने लगती हैं और जब रात मे सोने का समय होता हैं तब आपकी नींद आने मे परेशानी होती हैं।

धुम्रपान न करें

निकोटीन एक उत्तेजक पदार्थ है। धूम्रपान करने वालों को नींद आने में अधिक समय लगता है, वे बार-बार उठते हैं, और अक्सर उनकी नींद बाधित होती है।

जरूरत से ज्यादा खाना न खायें

जरूरत से ज्यादा खाना और शराब, इनका सेवन देर रात को करने से भी, आपकी नींद के नियम मे बाधा उत्पन्न होती हैं। शराब का सेवन करने से आपको पहले से ही नींद आने लगती हैं और जब रात मे सोने का समय होता हैं तब आपकी नींद आने मे परेशानी होती हैं।

ALSO READ  जानिए ? कौन से ग्रह कराते है घटना और विवाद...

सोने से पहले थोडा रिलैक्स करें

गर्म पानी से नहा लें, शांत संगीत सुनें या मन और शरीर आराम देने वाले व्यायाम करें।

आपके डॉक्टर आपको ऐसे सीडी सुनने का सलाह दे सकते हैं जिन्हें सुनकर आपकी थकान दूर हो और आपको आराम महसूस हो।‌

‌ अपनी चिंताओं के बारे में लिखें

अपनी चिंताओं को लिख डालें।

यदि आप कल क्या कुछ करना है के बारे में सोचते हुए बिस्तर पर लेट जाते हैं, तो अगले दिन की योजना बनाने के लिए सोने से पहले समय निर्धारित करें। उद्देश्य यह है कि जब आप बिस्तर पर हों, तो सोने की कोशिश करते समय इन चीजों से बचें।

यदि आपको नींद नहीं आ रही हैं, तो उठ जाएं

अगर आपको नींद नहीं आ रही है, तो लेटे हुए इसपर चिंता करने की जरुरत नहीं हैं। उठ जाइए और ऐसा कुछ कीजिए जिससे आपको आराम मिले और दोबारा नींद आ जाए, तब दोबारा सोने जाएं।

यदि आपकी नींद की कमी, आपके रोज़ के जीवन पर असर डाल रही हैं तो, आपको डॉक्टर से मिलने की ज़रूरत है।

वास्तु शास्त्र में दिशाओं को विशेष महत्व है. वास्तु के नियमों का पालन करने से घर में सुख-समृद्धि आती है. धन लाभ और तरक्की के लिए वास्तु के कौन से नियमों का पालन कर सकते हैं आइए जानें.वास्तु शास्त्र में दिशाओं का विशेष महत्व होता है और ये दिशाएं ही वास्तु विज्ञान का महत्वपूर्ण सिद्धांत होता है. वास्तु दोष वहीं पैदा होते हैं जहां पर वास्तु के नियमों का पालन नहीं किया जाता है. वास्तु शास्त्र के अनुसार जीवन में तमाम तरह की परेशानियां दिशाओं के गलत उपयोग की वजह से होती है. वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में रखी चीजों की दिशा, रहन-सहन और खान-पान का उपयोग किस प्रकार से किया जाए ताकि जीवन में सुख-समृद्धि और तरक्की आए।

ALSO READ  जानिए ? कौन से ग्रह कराते है घटना और विवाद...

व्यापार में धन अर्जित करने के उपाय और नियम 

वास्तु शास्त्र में घर की उत्तर दिशा को कुबेर का स्थान माना गया है. वास्तु में उत्तरी दिशा से चुम्बकीय ऊर्जा प्राप्त होती है. ऐसे में जब भी किसी बड़ी व्यापारिक डील या चर्चा करें तो उत्तर दिशा की ओर मुख करके बैठें. इससे चीजों को समझने की क्षमता बढ़ जाती है. उत्तर दिशा में बैठकर व्यापारिक समझौता करने पर व्यापार में उन्नति और धन लाभ की संभावना होती है.अच्छी सेहत के लिएवास्तु के अनुसार जब भी भोजन ग्रहण करें तो पूर्व दिशा की ओर मुख रहे. इससे अच्छी सेहत मिलती है. जिन लोगों के परिवार में उनके माता-पिता जीवित हैं उन्हें कभी दक्षिण की दिशा में बैठकर भोजन नहीं करनी चाहिए. जिन लोगों की आर्थिक स्थिति खराब होती है उन्हें पश्चिम दिशा की तरफ मुख करके भोजन करना चाहिए. इससे व्यक्ति की आर्थिक समस्याएं दूर होने लगती है और धन लाभ होता है. जो लोग उत्तर की दिशा ओर मुख करके भोजन करते हैं उनका कर्ज बढ़ता चला जाता है. इसके अलावा घर की महिलाओं को खाना बनाते समय उनका मुख पूर्व की दिशा में होना चाहिए. इसके अलावा रसोई में जहां पानी का स्थान हो वह जगह ईशान कोण में होना चाहिए ।