उपाय लेख

Vastu for Peace : मन की शांति के लिए करें ये उपाय…

93views

Vastu for Peace : मन की शांति के लिए करें ये उपाय…

Vastu for Peace: मन को शांत रखना उतना भी मुश्किल नहीं है। काफी हद तक उसे एक स्थान के भीतर नियंत्रित किया जा सकता है, जहां आप प्रमुख रूप से सीमित हैं- वह आपका घर है। वास्तुशास्त्र के अनुसार घर का हमारे जीवन और मन पर भी गहरा असर होता है। वहां यदि हम वास्तु का पूरा ध्यान रखें तो हमें मन की शांति अवश्य प्राप्त हो सकती है। सबसे बुनियादी और सरल चीज है घर की सफाई करना और उसे व्यवस्थित रखना। घर में अव्यवस्था से सकारात्मक ऊर्जा का चारों ओर प्रवाहित होना मुश्किल हो जाता है और घर में नकारात्मक ऊर्जा का वातावरण बनता है।गुरुवार को छोड़कर फर्श को साफ करते समय पानी में चुटकी भर समुद्री नमक डालना चाहिए। इस उपाय से घर की नकारात्मक ऊर्जा नष्ट होती है।

ALSO READ  संतान प्राप्ति में बाधा , विवाह में बाधा ? हो सकता है पितृ दोष .......

मानसिक शांति बनाए रखने के लिए दक्षिण-पश्चिम दिशा में एक पारिवारिक तस्वीर और घर की पश्चिम दिशा में परिवार के मुख्य जोड़े की एक तस्वीर लगाएं।उदासी और निराशा को दर्शाने वाली तस्वीरों से बचना चाहिए क्योंकि वे निराशा और अवसाद के लिए जिम्मेदार होती हैं।गायत्री मंत्र, गणपति अथर्वशीर्षम जैसे मंत्रों का जाप, संबंधित कुलदेवी और कुलदेवता से प्रार्थना करने से व्यक्ति के मन में शांति और सकारात्मक ऊर्जा लाने में मदद मिलती है। विद्युत उपकरणों के माध्यम से मंत्र जप से आपके परिसर में सकारात्मक कम्पन भी फैल सकता है, हालांकि स्वयं द्वारा जप सबसे शक्तिशाली है।

ALSO READ  पार्थिव शिवलिंग की पूजा करने से होती है हर मनोकामनाएं पूरी

मंदिर में शुद्ध घी से बने दीए जलाने चाहिएं। साथ ही अगरबत्ती, धूप/ गुग्गल जलाना, घंटानाद और शंख बजाना चाहिए। परिवार और धर्म की परंपरा के अनुसार दिवंगत आत्माओं के लिए अनुष्ठान करना भी बहुत महत्वपूर्ण है।नकारात्मक ऊर्जाओं और सोने की दिशा के कारण भी अधिकांश गृहस्वामियों ने मन की शांति खो दी है। लोगों के सोने की पोजीशन बहुत महत्वपूर्ण होती है क्योंकि इसी पोजीशन में हम अपने 8-10 घंटे बिताते हैं।

हमारा बिस्तर ऊर्जा से घिरा हुआ है और यदि कोई व्यक्ति गलत दिशा में सोता है तो उसे स्वास्थ्य और मन की शांति को प्रभावित करने वाले अवांछित परिणामों का सामना करना पड़ता है।

ALSO READ  पार्थिव शिवलिंग की पूजा करने से होती है हर मनोकामनाएं पूरी

हमेशा दक्षिण या पूर्व की ओर सिर करके सोएं तथा उत्तर या पश्चिम की ओर सिर करके न सोएं। वृद्ध लोगों, सेवानिवृत्त लोगों और घर के मालिक को मन की शांति बनाए रखने के लिए सोने के लिए दक्षिण-पश्चिम स्थिति अपनानी चाहिए।अविवाहित लड़कियों को सोने के लिए उत्तर-पश्चिम दिशा अपनानी चाहिए और दक्षिण-पश्चिम दिशा वर्जित है क्योंकि यह उन्हें जिद्दी बनाती है। सात्विक भोजन करना भी मन की शांति के लिए बहुत आवश्यक है।

जरा इसे भी पढ़े

जगन्नाथ पूरी रथ यात्रा 2023, कहानी , Jagannath Puri Rath Yatra Story In Hindi